इंटरनेट (Internet)

Internet का ऐसा अंतरजाल हमारी टीम आपके लिए उपयोग करने हेतु उत्सुक घटनाओं के पेज को जोड़ने में समर्थ है । इंटरनेट हर किसी की जरूरत के हिसाब से सूचना प्रदान करता है ।

व्हाट्सएप वेब वीडियो कॉल लैपटॉप से कैसे करें! WhatsApp Web Video Call

व्हाट्सएप वेब वीडियो कॉल लैपटॉप से कैसे करें WhatsApp Web Video Call

व्हाट्सएप की वेब वीडियो कॉल लैपटॉप से कैसे करते हैं या कैसे करें (WhatsApp Web Video Call on Laptop in hindi) अभी का यह समय इंटरनेट का आ गया है। और हर कोई इंटरनेट पर फेसबुक और व्हाट्सएप चला रहा है। ऐसे में मोबाइल से तो कोई भी WhatsApp विडियो कॉल और voice कॉल कर लेते है पर लैपटॉप को बात करे तो यह ज्यादा लोगो को नही पता है इसलिए हम आज इस पेज पर आपको WhatsApp Web Video Call on Laptop से करने के बार में लेख लेकर आए हैं।

WhatsApp के बारे में बता दें , की यह दुनिया भर में सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट में प्रचलित होता जा रहे है। और यह Social messaging प्लेटफार्म के लिए एक Messaging app के अंतर्गत है। ऐसे में इसके संबध में ऐसे ज्ञान होने आवश्यक हैं। इसलिए अगर थी रहेंगे की इसे अंतिम शब्दों तक पढ़ें फिर भी समझ नहीं आय तो कॉमेंट करें।

Status, message और न्यूज़ जैसे कई बाते आपको व्हाट्स ऐप के माध्यम से समय समय पर मिलती रहती है। और इसमें दोस्त क्या रिश्तेदार भी आपने Text message, Voice कॉल या फीर विडियो कॉल के जरिए से संपर्क करते रहते हैं। ऐसे में हम आपके लिए इस पेज पर व्हाट्स ऐप वेब और उससे वीडियो कॉलिंग करना एवं अन्य संबंधित जानकारी देते है।

व्हाट्सएप वेब वीडियो कॉल लैपटॉप से कैसे करें! WhatsApp Web Video Call

तो अब बिना समय गवाएं पहले हम मुख्य बिंदु पॉइंट व्हाट्सएप क्या है यह जान लेते है।

व्हाट्स ऐप क्या है? WhatsApp kya hai…

इसे हर कोई जानता है, फिर भी आपको बता दें कि एक सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट में से एक है। जिसे आप आने जाने वाले मेसेज और कालिंग हेतु इस्तेमाल करते है। एवं इसमें बड़े बड़े ग्रुप बनाकर दोस्तों और रिश्तेदारों को जड़ने और नई नई जानकारी टेक्स्ट मैसेज जैसे कार्य यही पर होते है।

अपने सभी उपयोगकर्ताओं के लिया व्हाट्स एप कई सारे सुविधाजनक फीचर्स मुहैया कराता है। वैसे तो ज्यादातर लोग इसे स्मार्ट फोन सेल फोन मेही इसके एप्लीकेशन का इस्तेमाल करते है। लेकिन फिर भी कुछ हमारे साथी ऐसे भी है, जिन्हे व्हाट्स ऐप वेब और उसमे वीडियो कॉल करने के लिए लैपटॉप या कंप्यूटर में इस्तेमाल करते है।

>>> व्हाट्सएप से पैसे कैसे कमाएं (अब होगी छुट्टी) – WhatsApp Se Paise Kaise Kamaye

व्हाट्सएप वेब लैपटॉप से वीडियो कॉल: WhatsApp Web video call Laptop se kaise kare?

हम आपको व्हाट्सएप वीडियो कॉल करना सिखाएंगे, वह भी आपके लैपटॉप या कंप्यूटर डिवाइस में। हम इस पर पूरी जानकारी आपको नीचे देंगे, आप हमारे द्वारा बताए जाने वाले नियमों और स्टेट को फॉलो करते रहे!

  1. अपने कंप्यूटर ब्राउज़र में कैरेक्टर ब्राउज़र में व्हाट्सएप वेब सर्च करें और इस वेबसाइट https://web.whatsapp.com/ पर आ जाएं!
  2. अपने मोबाइल में मौजूद व्हाट्सएप एप्लीकेशन को खोलें जिसे आप कंप्यूटर पर यह लैपटॉप स्क्रीन पर चलाना चाहते हैं।
  3. फिर भी आपने व्हाट्सएप कॉल लॉग इन कर रहा हूं हुआ है तो आप डायरेक्ट ऊपर राइट साइड में 3dot पर क्लिक करें
  4. और यदि आपने लॉग-इन नहीं किया है तो स्मार्टफोन में अपने मोबाइल नंबर से लॉगिन कर ले।
  5. Link devices पर क्लिक करें।
  6. यहां से आप क्यूआर कोड को स्कैन करें जो आपको लैपटॉप स्क्रीन पर दिख रहा है।
  7. बेफिक्री आर कोड स्कैनर कंप्लीट होगा आपका व्हाट्सएप लैपटॉप डिवाइस में ओपन हो जाएगा
  8. यहां से आप अपने मोबाइल की तरह ही लैपटॉप में भी अपने व्हाट्सएप का इस्तेमाल कर पाएंगे और
  9. यहां से आप व्हाट्सएप पे वीडियो कॉलिंग भी कर पाएंगे।

इसी तरह आप मोबाइल में भी अपनी ऑडियो कॉल की तरह से इस्तेमाल करते थे उसी तरह आप लैपटॉप डिवाइस में भी ऑडियो कॉल और वीडियो कॉल दोनों ही आसानी से कर पाएंगे।

>>> 3 स्टेप में, वेबसाइट बनाएं !

नीचे हम आपके लिए व्हाट्सएप के कुछ अन्य फीचर्स दे रहे हैं जिसमें आप व्हाट्सएप पर टेक्स्ट को आसानी से आकर्षक बना सकते हैं।

व्हाट्सएप पर किसी भी टेक्स्ट को आकर्षक लुक दे। (WhatsApp text attractive look bold italic)

हमारे द्वारा दिए गए इन तेरी खुशियां अपने टेक्स्ट को अट्रैक्टिव लुक (Attractive looks) दे सकते हैं उन्हें बोल्ड (Bold) और इटैलिक फॉर्मेट (italic format) में Fonts कर सकते हैं। Text messaging बेहतरीन बनाने के लिए हमारी टीम द्वारा बनाए, ये तरीके पढ़ें।

बोल्ड (Bold) करना: कई लोग अपने व्हाट्सएप के टेक्स्ट को बोल् कैसे करें इस बारे में भी इंटरनेट पर सर्च करते रहते हैं तो उनका वह जवाब भी हमारे इस आर्टिकल में कवर हो जाएगा उसके लिए हमारे नीचे के स्टेप फॉलो करें!

स्टेप – आप जिस भी Text को बोल्ड करना चाहते हैं उससे पहले आप इस चिह्न (*) का और उसके बाद भी आप इसी चिन्ह (*) का इस्तेमाल करें।

उदाहरण के लिए *Good Afternoon Bro*

आप इस तरह के चिन्ह का प्रयोग करेंगे तो आपके द्वारा जो भी वर्ड के पास इस चिन्ह (*) का इस्तेमाल किया गया होगा वह बोल्ड हो जाएगा और वह अन्य से अलग और हाईलाइट होकर उत्सुकता बनाएगा।

इटैलिक (ITALIC) करना: हमारे कुछ दोस्त भाई अपने द्वारा टेक्स्ट मैसेज को इटैलिक करने के बारे में इंटरनेट पर सर्च करते रहते हैं कि हम व्हाट्सएप टेक्स्ट को इटली कैसे करें तो इसका यह सवाल का जवाब भी यहां पर हल हो जाएगा उसके लिए आप हमारे द्वारा दिए गए नीचे के टिप्स पढ़ें;

टिप्स : नीचे हम जिसको उदाहरण की तरह बता रहे हैं आप उसी चेन्नई का इस्तेमाल आप जिस टेक्स्ट को इटली करना चाहते हैं उसके आगे पीछे दोनों तरफ लगाएं।

उदाहरण के लिए _Good Afternoon Bro_

जब आप इस अंडरस्कोर (_) का इस्तेमाल अपने व्हाट्सएप टेक्स्ट मैसेज में करेंगे तो वह इटैलिक हो जाएगा और वह बहुत ही सुंदर दिखेगा और अट्रैक्टिव लुक धारण करेगा।

समापन:

हा… तो दोस्तों हमारा यह आर्टिकल कंप्लीट हो रहा है कुछ शब्द हम आपसे कहना चाहेंगे, कि यदि आपको हमारा यह आर्टिकल जानकारी प्रदान करने वाला लगा हो. और आप इससे कुछ समझ में आए हो, तो कृपया इस पोस्ट को इस आर्टिकल को अपने दोस्तों, या फिर किसी भी व्हाट्सएप ग्रुप में भेजें ताकि उन्हें व्हाट्सएप के बारे में ऐसी जानकारियां मिल सके।

>> Whatsapp Web Kya Hai? लैपटॉप पर कैसे उपयोग करें

इसके अलावा कोई समस्या या कोई सवाल आपके दिमाग में चल रहा है, तो आप हमारी टीम से संपर्क कर सकते हैं. हम आपको व्हाट्सएप और व्हाट्सएप पे वीडियो कॉलिंग या फिर आईडीयो कॉलिंग, या फिर किसी भी अन्य व्हाट्सएप इसके संबंधित जानकारी आपको आसानी से प्रदान करेंगे।

3 Steps : How to create website with Google easyly

Friends, now the era of internet is going on. The world is moving forward with smartphones and new technology. Every day millions of people search something or the other on Google. The website is also one of them. When you search for anything on Google, then whatever website you reach and read something there. It is put through some website only.

The place where you are reading this content is also the website. If you also want to make your own Website. And want to earn thousands, lakhs of rupees a month. So you read this post of ours completely. Because we are going to tell you an easy way to create a website.

How to create website with GOOGLE | Make Fast

To build a website mainly two things are needed 1) Hosting 2) Domain name. Friends, when you buy these two. He has to pay the charge.

Note: There is a charge for creating any website. It charges. This charge remains around Rs 5000 INR for 1 year.

Sometimes discount is also available in it. And this is only a discount of 1 to 2 days. Therefore, whenever you are getting hosting at a discount, you should buy it as soon as possible.

Special: When you buy hosting. You get 24×7 support. Still, if you are not able to run the website. So if you want, you can Refund your money in 30 days. Without any hesitation. So don’t worry about your money. Try learning and making your Website work today.

Whatever amount of hosting you buy, it is available with you for that time. And when the time runs out, Kharina reads it again.

So now let’s know how to make a website. Which will be completed in three steps.

“The world that is changing so fast,
Only one decision which is bound to fail.
That is not taking risk.”

Friends, do not waste time, make your website as soon as possible in this internet world. If you get the offer.

How to create website on google. Three steps for Build

Build a website in three steps.

  1. Buy Hosting
  2. Register the Domain
  3. Install WordPress and Write Posts

1. Buy Hosting

[You keep on following the steps with us. Your money won’t go anywhere, you can get your 100% refund within 30 days. ,

  • Go to Hostinger website. (Check Offer)hostinger hosting primium
  • Scroll down a bit,
  • From there you choose premium web hosting.
  • From that you add premium web hosting to Add to Cart.
  • Here you choose the 12-month plan.
  • Create your Gmail or Google or Facebook account below.
  • Complete the payment through UPI i.e. Google Pay, PhonePe or PayTm.
  • The process of purchasing hosting is complete.

[You can get 24×7 support only after purchasing hosting]

BUY Hosting Link

“Because if not today, then sometime,
Will people ever pay attention,
Keep it up, don’t just stop
Your round will come sometime.”

If you are facing any problem after buying hosting then you can mail or comment us. Well no time will come, be 100% secure!

2. Register the Domain

[Get sport 24×7 anytime when problems arise]

  • You have taken the hosting, the process after that register the domain.
  • For that, login to hostinger with the same Gmail account.
  • And click on the domain option from the top right side menu.
  • Any domain name of your choice, such as (example.com).
  • Register here.
  • Domain registration process also completed.

“Change with the times or learn to change with the times,
Do not curse the compulsions, learn to walk in any case.”

3. Install WordPress and Write Posts

[We and our team are with you, the money invested by you will be returned within 30 days. If you want.]

  • When you register domain with hostinger website.
  • Then you have to click on Hosting option in the top right menu.
  • Here you will find the Auto Install option below.
  • Select WordPress in it.
  • Enter your Dominic Name, User Name and Password.
  • After this you click Install WordPress.
  • After that your website is ready.
  • Login to WordPress to compose your post.
  • For login, type example.com/wp-admin in the browser.
  • Login here with your username and password.
  • After this you write a new post from the post option in the top left side.
  • From here you will be able to make complete settings to control the website.
  • Get your website ready.

“The eyes were storied, fell and kept on recovering.
What was the power in the storms, the lamps kept burning in the air also.”

Now you go to hostinger.in. If you get more offers then take advantage. Because don’t miss your golden opportunity.

“Keep on just don’t stop,
Your round will come sometime.”

 • Whatsapp Web Kya Hai…

You have learned how to make a website, hope you have created your website easily. Still, if you are facing any problem then you can contact us or comment.

3 स्टेप में, वेबसाइट बनाएं !

दोस्तों अब इंटरनेट का ज़माना चल रहा है। स्मार्टफोन और नई टेक्नोलॉजी को दुनिया आगे बढ़ती जा रही है। गूगल पर हर रोज़ लाखो करोड़ों लोग कुछ न कुछ सर्च करते है। वेबसाइट भी उन्ही में से एक है। जब आप गूगल पर कुछ भी खोजने है, उसके बाद आप जिस भी वेबसाइट पर पहुंचते और वहा कुछ न कुछ पढ़ते है। वह किसी वेबसाइट के द्वारा ही डाला जाता है।

आप जिस जगह पर ये कंटेंट पढ़ रहे, यह भी वेबसाइट है। यदि आप भी अपनी वेबसाइट बनाना चाहते है। और महीने के हजारों, लाखों रुपए कमाना चाहते हैं। तो आप हमारे इस पोस्ट को पूरा पढ़ें। क्योंकि हम आपको वेबसाइट बनाने का आसान तरीका बताने वाले है💝।

किसी वेबसाइट बनाने के लिए मुख्य रूप से दो चीजों की जरूरत होती है 1) होस्टिंग 2) डोमेन नाम। दोस्तों जब आप इन दोनो को खरीदते है। उसका चार्ज देना होता है।

नोट : किसी भी वेबसाइट के बनाने में चार्ज लगता है। इसका चार्ज लगता है। यह चार्ज लगभग 1 वर्ष का 5000 रुपए रहता है।

💖कभी कभी इसमें Discount भी मिलता है। और यह सिर्फ 1 से 2 दिन का ही Discount होता है। इसलिए जब भी आपको डिस्काउंट में होस्टिंग मिल रही हो आप जल्दी से जल्दी खरीद लें।

विशेष : जब आप होस्टिंग खरीदते है। आपको 24×7 सपोर्ट मिलता है। फिर भी यदि आप वेबसाइट को नहीं चला पाते है। तो आप चाहे तो 30 दिन में अपने पैसे रिफंड कर सकते हैं। बिना किस हिचकिचाहट के। इसलिए आपके पैसे की चिंता न करें। आज ही अपनी वेबसाइट के वर्क को सीखने और बनाने का प्रयास करें💝।

आप जितने भी समय की होस्टिंग खरीद लेते है, तो वह आप पास उतने समय के लिए मौजूद हो जाती है। और समय समाप्त होने पर दोबारा खरीना पढ़ता है।

तो अब वेबसाइट बनाने के तरीके को जान लेते है। जो की तीन स्टेप में कंप्लीट हो जायेगा।

“दुनिया जो इतनी तेजी से बदल रही है,
केवल एक निर्णय जिसका फ़ैल होना तय हैं।
वो है रिस्क न लेना”

दोस्तों समय न गवाएं, जल्दी से जल्दी इस इंटरनेट की दुनिया में अपनी वेबसाइट बना लें। यदि ऑफर मिले तो।

तीन स्टेप में वेबसाइट बनाए।

1. होस्टिंग खरीदें

hostinger hosting primium

[ आप हमारे साथ स्टेप को फॉलो करते चले। आपके पैसे कही नही जायेंगे, आप 30 दिन के भीतर अपना 100% रिफंड वापस पा सकते हैं। ]
Hostinger.in वेबसाइट पर जाएं. (Offer Check करें)
कुछ नीचे स्क्रॉल करे,
वहा से आप प्रीमियम वेब होस्टिंग चुनें.
 वहां से आप प्रीमियम वेब होस्टिंग को Add to Cart करें.
यहां आप 12 महीने के प्लान को चुने.
नीचे अपनी जीमेल या गूगल या फेसबुक से खाता तैयार करें।
UPI यानी Google pay, PhonePe या PayTm से पेमेंट Complete कर दें।
होस्टिंग खरीदने को प्रक्रिया पूरी हुई. [Hosting खरीदने के बाद से ही आप 24×7 सपोर्ट पा सकते है]

“क्यूंकि आज नहीं तो और कभी,
करेंगे लोग गौर कभी,
लगे रहो बस रुकना मत,
आयेगा तुम्हारा दौर कभी।”

होस्टिंग खरीदने का बाद यदि आपको कोई प्राब्लम आ रही हम तो हमे मेल या कॉमेंट कर सकते हैं। वैसे कोई समय नहीं आयेगी 100% सिक्योर रहे!

2. डोमेन रजिस्टर

[समस्या आने पर 24×7 कभी भी स्पोर्ट पाए]
आपने होस्टिंग ले ली है, उसके बाद की प्रक्रिया डोमेन रजिस्टर् करें.
उसके लिए आपका यही hostinger.in पर उसी Gmail account से लॉगिन करें.
और ऊपर राइट साइड मैनू से डोमेन ऑप्शन क्लिक करें.
अपनी पसंद का डोमेन नाम जैसे (example.com) कुछ भी.
यहां से रजिस्टर करें.
डोमेन रजिस्टर प्रक्रिया भी पूरी हुई.

“बदल जाओ वक्त के साथ या वक्त बदलना सीखो,
मजबूरियों को मत कोसो हर हाल में चलना सीखो।”

3. इंस्टाल वर्डप्रेस और पोस्ट लिखना

[हम और हमारी टीम आपके साथ है आपके द्वारा लगाए गए पैसे 30 दिन में वापस करवा दिए जायेंगे। यदि आप चाहेंगे तो।]

hostinger auto installer
जब आप hostinger.in से डोमेन रजिस्टर् करें।
तब आपको टॉप राइट मैनू में होस्टिंग ऑप्शन क्लिक करें।
यहां आपको कुछ नीचे Auto Install ऑप्शन मिलेगा.
उसमे WordPress का चयन करें.
यहा आपके Domin नाम, यूजर नेम और पासवर्ड लिखें.
इसके बाद आप WordPress इंस्टॉल क्लिक करें.
उसके बाद आपकी वेबसाइट तैयार है।
अपनी पोस्ट लिखने के लिए वर्डप्रेस लॉगिन करें।
लॉगिन के लिए example.com/wp-admin ब्राउजर में टाइप करे।
यहां अपना यूजर नाम और पासवर्ड से लॉगिन करें।
इसके बाद आप टॉप लेफ्ट साइड में पोस्ट ऑप्शन से नई पोस्ट लिखे।
यहां से वेबसाइट को कंट्रोल करने की पूरी सेटिंग कर पाएंगे।
लीजिए आपकी वेबसाइट तैयार है।

“आँखों में मंजिले थी, गिरे और सँभलते रहे।
आंधियों में क्या दम था, चिराग हवा में भी जलते रहे।”

अभी आप hostinger.in पर जाएं। और ऑफर मिले तो लाभ उठाए । क्योंकि आप कही सुनहरा मौका न खो दें।

“लगे रहो बस रुकना मत,
आयेगा तुम्हारा दौर कभी।”

आपने वेबसाइट बनाना सीखा , आशा करते है आप ने अपनी वेबसाइट आसानी से बना ली होगी । फिर भी कोई समस्या आ रही को तो आप हमारे से संपर्क या कॉमेंट करें।

मोबाइल बैंकिंग क्या है? कैसे करें Mobile Banking Kya Hai

Mobile Banking Kya Hai? बैंक अपने ग्राहकों या यूजर्स के लिए हर अच्छे फीचर्स को लाते है । मोबाइल बैंकिंग भी उन्ही Features (सेवाओं) में से एक हैं । मोबाइल बैंकिंग से यूजर्स अपने स्मार्ट फोन या मोबाइल डिवाइस में मध्यम से अपने बैंक अकाउंट के डिजिटल रूप से संचालित करता है ।

आपको तो पता है, की अब इंटरनेट का दौर चल रहा है । जिससे हर कोई इंटरनेट के सहारे कई कार्यों को करने में सक्षम है । इसी के तहत मोबाइल बैंकिंग भी वित्तीय लेन देन की सेवाएं इंटरनेट से संचालित होती है । इसके अलावा कई बैंकिंग कार्यों की अनुमति मोबाइल बैंकिंग सुविधा में उपलब्ध है ।

आज हम आपको इसी से संबंधित पोस्ट को लेकर आए है, यदि आप भी जानना चाहते हो, की मोबाइल बैंकिंग क्या है? (Mobile Banking Kya Hai) , इसका क्या इतिहास है? मोबाइल बैंकिंग सेवाओं के प्रकार, बैंक खाता से लेनदेन एवं मोबाइल बैंकिंग करके निवेश, के अलावा मोबाइल बैंकिंग सुविधा से लाभ फायदें, जैसे कैस प्रश्नों को हम इस पोस्ट में आगे देंगे ।

मोबाइल बैंकिंग क्या है? कैसे करें – Mobile Banking Kya Hai

तो आप Mobile Banking के ज्ञान के पढ़ने से लिए सज्ज रहें, हम कुछ ही शब्दो के बाद Mobile banking kya hai बताने वाले हैं ।

Mobile banking kya hai – मोबाइल बैंकिंग क्या है ? हिंदी में

अपने स्मार्ट फोन या मोबाइल डिवाइस (Mobile Device) से कोई यूजर अपने अकाउंट से वित्तीय लेन देन करता है । यही मोबाइल बैंकिंग सुविधा है । Mobile Banking यूजर्स और ग्राहक को हर तरह से धन लेन देन की क्रिया को सरल उपयोग करने में मदद करती हैं । इतना ही नही मोबाइल बैंकिंग सुविधा यूजर्स को स्वयं के बैंक खाते के बैंक बैलेंस, ऑनलाइन बैंक स्टेटमेंट, जैसी खुबसूरत सुविधाएं प्रदान करता हैं । किसी Fund transfer, NEFT, RTGS, IMPS एवं ऑनलाइन भुगतान की भी जरूरत भी मोबाइल बैंकिंग से संपन्न हो जाती है ।

दोस्तो आपको बता दें की आप अपने मोबाइल फोन से ऑनलाइन घर बैठे ही बिल भुगतान, ट्रेन या बस टिकट, गैस सिलेंडर बिल भुगतान भी मोबाइल बैंकिंग से माध्यम से संचालित कर सकते हैं । आपो तो पता ही है को कर यूजर्स या खाताधारण अपने लिए लैपटॉप या कंप्यूटर नही ले सकता इसलिए वह इंटरनेट बैंकिंग के लाभ को ले पाने से वंचित रह जाते थे । पर जबसे मोबाइल बैंकिंग सुविधा बैंक द्वारा उपलब्ध हुए है, कई सारे समाधान हो गया है । और लोगो को बैंकों में बड़ी बड़ी लाइन में खड़ा नही रहना पढ़ता है । कई सारे काम घर बैठे ही मोबाइल बैंकिंग से हो जाते है ।

जब भी आप किसी बैंक की मोबाइल बैंकिंग को संचालित करना चाहते हो, आपको उस बैंक द्वारा बनाए किसी Mobile banking application को अपने मोबाइल में लोड कर्म होगा । यह यूजर्स के हिसाब से ही बनाया जाता है, जिसे हर यूजर आसानी से चला पाए है ।

>>> Whatsapp Web Kya Hai? लैपटॉप पर कैसे उपयोग करें

बैंक के मोबाइल बैंकिंग एप्लीकेशन की मदद से यूजर्स बैंक से और बैंक के अंदर अपने अकाउंट से सीधे जुड़ जाता है । और बैंको द्वारा मोबाइल बैंकिंग में दी गई सेवाओं के लाभ उठाता है ।

मोबाइल बैंकिंग के इतिहास – Mobile banking history

दरसल बात है 1999 को जब कुछ बैंक अपने यूजर्स को मोबाइल बैंकिंग की सुविधा के लेकर आए थे । लेकिन आपको जानकर हैराही होगी की इस समय बैंक सिर्फ एस.एम.एस (Sms) में टेक्स्ट रूप में ही अपनी बैलेंस या अन्य सेवाओं को पहुंचाना शुरू किया । वर्ष 2010 के समय से SMS की बैंकिंग एवं Mobile Web बेहतरीन प्रदर्शन कर रहा था । उसी समय Android एवं iOS इस्तेमाल करने वाले यूजर्स के लिए, बैंक ने अपने मोबाइल डिवाइस के लिए एप्लीकेशन बनाना प्रारंभ किया ।

मोबाइल बैंकिंग को जब स्मार्ट फोन के हिसाब से उपभोक्ता सेवाओं के अंतर्गत लेन देन के फीचर्स बढ़ाए गए । आज कल अपने बैंक अकाउंट से लेनदेन एवं बैलेंस देखने को प्रक्रिया एसएमएस और मोबाइल बैंकिंग से संचालित हो रही हैं । आपको बता दें की , बैंक इस हेतु हर ट्रांजेक्शन में सुरक्षा भी देती हैं ।

मोबाइल बैंकिंग सेवाओं के प्रकार – Features of mobile banking

अपने यूजर्स के बैंक कई सारे फीचर्स देता है, उन्हें तहत Mobile banking service भी मुख्य भूमिका निभाती है जिसमे आप कई सारे फीचर्स देखेंगे –
1. बैंक इंफॉर्मेशन
2. लेनदेन सुविधा
3. निवेश सुविधा
4. सहायता एवं सुरक्षा सेवाएं

1. बैंक इंफॉर्मेशन

आपके बैंक मोबाइल बैंकिंग सुविधा के अंर्तगत कई सारी ऑनलाइन जानकारी इंफॉर्मेशन देता हैं । जिसके अंतर्गत आप बैंक खाता धारक या यूजर्स को बैंक लेनदेन, बैंक बैलेंस डाटा, फंड ट्रांसफर की हर इंफॉर्मेशन आपका दिखाती हैं । इतना ही नही यह इंफॉर्मेशन के देखकर उपभोक्ता मोबाइल बैंकिंग से मिनी स्टेटमेंट एवं खाता जानकारी को प्रिंट भी कर सकता हैं ।

2. लेनदेन सुविधा

जैसे की नाम से ही सिद्ध है, की लेनदेन सुविधाएं उपलब्ध कराता है । जिसमे आप घर पर रहकर ही, घर बैठे ही मोबाइल बैंकिंग से सरलता पूर्वक बिना किसी हिचकिचाहट के लेनदेन क्रिया संपन्न कर सकते हैं । इसमें आप M Banking से RTGS,IMPS,NEFT या ऑनलाइन शॉपिंग जैसे लेन देन के भुगतान कर सकते हैं ।

इसके अतिरिक्त भी कैस सुविधाए जैसे बैंक खाता से बिजली, पानी, गैस के बिल, रिचार्ज एवं बस रेलवे टिकट बुक कर उसमला पेमेंट कर सकते हों ।

3. निवेश सुविधा

जब भी कोई यूजर निवेश के लिया प्लान करता है । तो वह बैंक द्वारा दिए गई मोबाइल बैंकिंग सुविधा से भी अपना निवेश प्रारंभ एवं किसी भी समय बाहर निकल सकते है । यह सुविधा उत्तम हैं, जहा निवेश Portfolios को देख सकता है । Term deposit, Fixed diposit इन सभी को यूजर मोबाइल बैंकिंग की सहायता से कर सकता है ।

>>> व्हाट्सएप से पैसे कैसे कमाएं (अब होगी छुट्टी) – WhatsApp Se Paise Kaise Kamaye

4. सहायता एवं सुरक्षा सेवाएं

मोबाइल बैंकिंग में और इसके एप्लीकेशन में ग्राहक इस एप्लीकेशन की मदद से सहायता एवं सुरक्षा सेवाओं के आसानी से गृहण कर सकता है । एवं किसी भी समय इन्हे पा सकता हैं । जब आप लोन, या क्रेडिट जैसी सुविधाओं की बात हो आसान हैं । ATM card या चेक बुक हेतु रिक्वेस्ट जैसे कार्य भी मोबाइल बैंकिंग में उपलब्ध हैं । इतना ही नही जब आपके ATM खो या कही चोरी की स्थिति में भी मोबाइल बैंकिंग उपयोग में लिया जा सकती है, जिससे आपके ATM को फास्ट तरीके से ब्लॉक किया जा सकता हैं ।

आज के समय में मोबाइल बैंकिंग के महत्व क्या है?

आज के एक्स इस तकनीकी बड़ी दुनिया में हर कोई उसे किसी भी बैंक के लेनदेन एवं उसके अन्य सुविधाओं के लिए मोबाइल बैंकिंग का इस्तेमाल कर रहा है । मोबाइल बैंकिंग का महत्व शुरुआती दिनों में थोड़ा कम था । लेकिन जैसे-जैसे इंटरनेट की कनेक्टिविटी बड़ी और इस स्मार्टफोन की दुनिया हाई मोबाइल बैंकिंग बहुत ही सरल और आसान तरीका बन गई है । मोबाइल बैंकिंग से आप अपने किसी भी फ्रेंड को ट्रांसफर कर सकते हैं और अपनी आवश्यकता अनुसार अपने किसी बिजनेस या किसी अन्य जगह पर भी अपने पैसे को सुरक्षित रूप से लेन देन प्रक्रिया में कर सकते हैं ।

मोबाइल बैंकिंग में जब आप किसी भी फ्रेंड को घर बैठे ही ट्रांसफर कर सकते हैं । तो आपको बैंक में बार-बार बड़ी-बड़ी लाइनों में लगने की जरूरत नहीं है । यह इसकी विशेष महत्त्व होता है   इसके अलावा भी आप किसी भी समय समय पर बिना किसी भी समस्या के हर रोज 200000 तक पैसे को ट्रांसफर लेन देन कर सकते हैं ।

आपको तो पता ही है, कि यदि आपके पास कोई स्टोरी है दुकान भी है । तब भी आप अपने ग्राहक से पेमेंट आपने सीधे बैंक अकाउंट में पा सकते हैं । और आज ऑनलाइन का कार्य इतना बढ़ गया है , कि मोबाइल बैंकिंग बहुत ही जल्दी और फास्ट तरीका बन गई है । हर कोई घर बैठे आसानी से अपने सभी ट्रांजैक्शंस को कर पा रहा है । और इसके अतिरिक्त भी मोबाइल बैंकिंग में बहुत सारे सेवा ही जुड़ चुकी है । उनमें से कुछ सेवाओं को तो हमने ऊपर आपके साथ डिस्कस किया ही है ।

मोबाइल बैंकिंग पंजीयन कैसे करें – Mobile banking registration

बैंक अपने उपभोक्ताओं को मोबाइल बैंकिंग जैसे ही फैसिलिटी में पंजीयन करने के लिए कुछ ही डॉक्यूमेंट या दस्तावेज सबमिट करने की परमिशन लेती है । जिसमें आप का आईडी प्रूफ (आधार कार्ड, पेन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आईडी इत्यादि में से कोई भी), मोबाइल नंबर (Active है) इसके साथ पंजीयन फॉर्म को सबमिट करने की जरूरत होती है ।

सब कुछ सही होने पर आप SMS के मध्यम से MPIN ग्राहक पंजीयन मोबाइल पर पा डालते हैं । और मोबाइल में MPIN लगाकर मोबाइल बैंकिंग एप्लीकेशन को लॉगिन कर सकते हैं ।

  • अपने पंजीकृत मोबाइल नंबर से आप USER ID और MPIN पा सकते हो ।
  • आप बैंक के मोबाइल बैंकिंग एप्लीकेशन या कोई अन्य थर्ड पार्टी एप्लीकेशन को अपने साथ जोड़ सकते हैं ।
  • जब आप मोबाइल बैंकिंग एप्लीकेशन या कोई अन्य थर्ड पार्टी एप्लीकेशन में अपने इंस्टालेशन की प्रक्रिया के करते है ।
  • तब Activation Process में पंजीकृत मोबाइल नंबर पर OTP Code एवं MPIN code के द्वारा आप मोबाइल बैंकिंग का एक्टिक कर सकते हैं ।

USSD (Unstructured Supplement Service Data)

USSD के अंतर्गत आपको यह बेनिफिट होता है, की आप बिना इंटरनेट के अपनी active SIM पर मोबाइल की मदद से बनी की इंफॉर्मेशन प्राप्त कर सकते है । USSD से आप बैंक बैलेंस चेक कर सकते हैं ।

UPI एप्लीकेशन

UPI से यूजर अपना लेन देन ऑनलाइन कर सकते हैं । इसका फुल फॉर्म Unified Payments Interface है । आप हर तरह के पेमेंट को UPI से संभव कर सकते हैं । जिससे यूजर्स को अपने बिल, रिचार्ज, शॉपिंग मॉल जैसे पेमेंट को आसानी से कर पाने में सक्षम है । एवं आप सिनेमा घर या बस या ट्रेन ही नही टैक्सी की पेमेंट भी UPI से संभव कर सकते हैं ।

>>> वेबसाइट कैसे बनाएं – How to start website in hindi

मोबाइल बैंकिंग के फायेदे – Mobile banking ke fayde

जहां देखो वहां हर लोग मोबाइल बैंकिंग का इस्तेमाल करते हुए दिखाई देते हैं । ऐसे में मोबाइल बैंकिंग के अलग-अलग तरह से क्या-क्या फायदे हो सकते हैं । यह आपके लिए जान लेना बहुत जरूरी है नीचे हम कुछ मोबाइल बैंकिंग के फायदे बता रहे हैं –

  1. अपने बैंक के अकाउंट को घर बैठे मेंटेन करना ।
  2. घर बैठे ही अपने बैंक अकाउंट का बैलेंस चेक (Balance Check) करना ।
  3. किसी भी समय अपने बैंक अकाउंट की राशि को मोबाइल द्वारा ट्रांसफर करना ।
  4. मोबाइल बैंकिंग के द्वारा अपने अकाउंट (Account) की डिटेल निकालना ।
  5. 24/7 कस्टमर सपोर्ट मोबाइल से प्राप्त करना ।
    ऑनलाइन पेमेंट करना ।
  6. ऑनलाइन बिजली , गैस , पानी इत्यादि के बिल भरना ।
  7. अपने मोबाइल से ही डीटीएच या मोबाइल रिचार्ज (Mobile recharge) करना ।
  8. किसी भी समय अपने अकाउंट का स्टेटमेंट (Statements) डाउनलोड करना ।

Frequently Asked Questions (FAQs) – अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

कई लोग अक्सर इंटरनेट पर आपने क्वेश्चन पूछा करते हैं उनको जनों को लेकर हम आए हैं वैसे इन क्वेश्चन को फ्रिक्वेंटली एस्क्ड क्वेश्चंस (Frequently Asked Questions) बोलते हैं –

1. मोबाइल बैंकिंग के उपयोग क्या है (Mobile banking ke upyog kya hai)

दोस्तों लोगों के द्वारा माल बैंकिंग का इस्तेमाल करके अपने बैंक अकाउंट को अपने स्मार्टफोन या मोबाइल डिवाइस से ही कंट्रोल किया जाता है । एवं इतना ही नहीं बैंक अकाउंट बैलेंस चेक किसी भी समय बैंक अकाउंट से लेनदेन की प्रक्रिया कर सकते हैं । इसके अलावा भी मोबाइल बैंकिंग के बहुत सारे उपयोग है ।

2. मोबाइल बैंकिंग का अर्थ क्या है (Mobile banking ka kya matlab hai)

मोबाइल बैंकिंग का मतलब (अर्थ) है, अपने अकाउंट को मोबाइल बैंकिंग द्वारा अपने स्वयं के मोबाइल द्वारा ऑपरेट करना एवं लेनदेन एवं बैंक डिटेल जैसी सेवाओं को अपने स्वयं के मोबाइल स्मार्टफोन पर प्राप्त करना ।

3. मोबाइल बैंकिंग और नेट बैंकिंग में अंतर क्या है । Mobile banking or internet banking mein kya antar hai

मोबाइल बैंकिंग मोबाइल के द्वारा ऑपरेट की जाती है, जबकि इंटरनेट बैंकिंग के लिए आपके पास लैपटॉप या कंप्यूटर होने की जरूरत होती है । मोबाइल बैंकिंग एवं नेट बैंकिंग में आपको लगभग ही सभी सेवाएं सम्मान प्राप्त होती है, लेकिन यह सेवा आपके लिए ज्यादा उत्तम है क्योंकि यह आपके मोबाइल से ही ऑपरेट हो सकती है । मोबाइल बैंकिंग यूजर्स के लिए बहुत ही फायदे और देने वाली होती है, और यह आसान भी है ।

>>> जीमेल पर मोबाइल नंबर कैसे सेव करें – GMail par contact number kaise save karen

समापन : दोस्तों आज आपने हमारे ब्लॉक पर मोबाइल बैंकिंग संबंधित यह पोस्ट पड़ी जिसमें हमने आपको बताया था कि मोबाइल बैंकिंग क्या है? (Mobile banking kya hai). मोबाइल बैंकिंग के लिए पंजीकृत कैसे करें? और इतना ही नहीं हमने इसके कुछ लाभ भी आपको फायदे के साथ बताएं दोस्तों यदि आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो कृपया हमें कमेंट अवश्य करें इसके अतिरिक्त आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों को अपने फैमिली मेंबर्स को बिना किसी हिचकिचाहट के व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर कर सकते हैं । मोबाइल की दुनिया में आजकल ऑनलाइन शायरी उपलब्ध है आप उन शायरी को इंजॉय Shayari Enjoy कर सकते हैं।

ऐसे ही हम कुछ अन्य आर्टिकल आपके लिए नीचे दे रहे हैं आप चाहे तो उन्हें भी इस पोस्ट को पढ़ने के बाद या कमेंट करने के बाद पढ़ सकते हैं ।

Website Se Paise Kamaye: अपनी वेबसाइट बनाकर 8+ तरीकों से पैसे कमाएं

वेबसाइट बनाकर 8+ तरीकों से पैसे कमाएं | 8+ Tarike Se Website Se Paise Kamaye

आज के इस दौर में कोई भी इंटरनेट पर मौजूद जानकारियों को देखते और पढ़ते रहते है। ऐसे में कभी किसी न किसी के विचार में वेबसाइट से पैसे कमाने के तरीके को जानने की लालसा जागी। और उसमे हमारी टीम को इस पर पोस्ट लिखने के लिए कॉमेंट किया । तो हमारी टीम वेबसाइट से पैसे कमाने के कई तरीके को सरलता से बनाने की उत्सुकता ने ये पोस्ट का निर्माण कर रही है।

वैसे आपको बता दें की आप हमारी विशेष गाइडलाइन के जरिए अपनी खुद की वेबसाइट कम बजट में बना सकते है। उसके लिए पहले ही हमारी टीम पहले की पोस्ट लिख चुकी है।

फिर भी हम आपको उसकी थोड़ी सी झलक कुछ शब्दों में व्यक्त कर देने है। की आपकी खुद की वेबसाइट बनाने के लिए Hosting, Domain और SSL की जरूरत होती है। जिसे ऑनलाइन Purchase करना होता है। हम आपको बता दें की आप हमारी की वेबसाइट लिंक मौजूद किसी लिंक के जरिए Hosting खरीदते है तो इसके साथ Domain और SSL मुफ्त में मिल जाएगा। यदि आप अपनी वेबसाइट अभी तक नही बनाई है तो ये पोस्ट पढ़ें – अपना खुद का [ब्लॉग या वेबसाइट कैसे बनाएं] – How to start blog OR website in hindi

बाकी की सभी इनफॉर्मेशन ऊपर जो लिंक है उस पेज पर है।

तो चलिए अब हम हमारे इस पोस्ट पर आ जाते है कि जब आप अपनी वेबसाइट बना ले तब उससे पैसे कैसे कमा सकते हैं। उसके संबंध में नीचे हम कुछ 8+ तरीकों को बता रहे है।

ये 8+ तरीकों से वेबसाइट बनाकर पैसे कमाएं

अपनी वेबसाइट बनाकर 8+ तरीकों से पैसे कमाएं – 20 Tarike Se Website Se Paise Kamaye

आपको पहले ही बता दें, की हम जो तरीके बता रहे उनके अलावा भी कई तरीके हो सकते है। जिन्हे आप इंटरनेट या अन्य माध्यमों से प्राप्त कर पायेंगे। लेकिन हम उनमें से विशेष को बता रहे –

1. Google AdSense से

adsense GoNewzy

गूगल द्वारा संचालित यह उपक्रम Google AdSense है।  अपनी वेबसाइट पर AdSense के ads लगाना, आपकी वेबसाइट से पैसे कमाने में बहुत अच्छा और उत्तम तरीका हो सकता है। इसके लिए आपको अपने ब्लॉग पर शुरुआती दिनों में अच्छे और बड़े पोस्ट पब्लिक करने होंगे। जब आप एक बार अपने ब्लॉग पर 8-9 पोस्ट पब्लिक कर दें, लेकिन ध्यान रखे आपको पोस्ट बिलकुल यूनिक और उसमे 1500+ शब्दों का संग्रह अवश्य सुनिश्चित करें।

एक बार जब आपकी वेबसाइट पर अच्छा ट्रैफिक या पेज व्यू आने लगे, तब आपको Google AdSense भारी मात्रा में कमाई हो सकती है। जब भी कोई विजिटर आपकी वेबसाइट पर AdSense ads से पहुंचेगा इसके लिए आपको पैसे दिए जायेंगे।

2. Affiliate Marketing से

affiliate marketing

Website पर मौजूद किसी प्रोडक्ट को आप अपने लिंक से किसी विजिटर को Parchece करवाते है तब आपको उस प्रोडक्ट पर कमीशन मिलता हैं।

रेफरल Commission भी मिलते हैं। आपने की प्रोडक्ट के बारे में लिखा है और वह लोगो को पसंद आ रहा है। और लोग उसे खरीदने के लिए उत्सुक है । तब आपको अपनी वेबसाइट पर Affiliate Marketing करनी चाहिए।

हम आपको Affiliate marketing हेतु आपको नीचे कुछ वेबसाइट को इस्तमाल करने की सलाह देंगे आप इन साइट के Affiliate को ज्वाइन कर सकते हैं।

1. Amazon 2. ShareASale 3. Commission Junction

अपनी वेबसाइट पर किस Affiliate प्रोग्राम को ज्वाइन किया है तो आप उस संदर्भ में अपने वेबसाइट पर उचित प्लगिंस का उपयोग भी कर सकते है।

3. Sponsored: Articles या Posts से

जब भी कोई कंपनी अपने प्रोक्यूट को ads द्वारा नही पहुंचा पाती। उस समय वह Sponsored Articles या Posts से आपको संपर्क करके आपके ब्लॉग या वेबसाइट पर पोस्ट पब्लिक करवाने को बोलती है। उस समय वह कंपनी आपको पोस्ट लिखने के बहुत ज्यादा पैसे देने को तैयार रहती हैं।

Sponsorship आपकी वेबसाइट की कमाई का बहुत अच्छा जरिया हो सकता हैं।

4. Reviews लिखकर

जब आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट पर रेगुलर Reviews लिखते जाते है और आने वाले समय में आपको अच्छा ट्रैफिक मिलता है तब कंपनी खुद आपको Reviews लिखने को प्रोत्साहित करेगी उसके लिए भी आपको पैसे भी देगी।

उस समय आप Paid reviews लिखने हेतु कंपनियों से कॉन्टेक्ट भी कर सकते हैं, बहुत सी साइट ऐसे Paid reviews से लाखों रुपए कमा रही है।

वेब क्रॉलिंग क्या है Web crawling kya hai

5. Ebooks बेचकर

आपकी वेबसाइट पर जब बहुत सारे पोस्ट आ जाए और आपके कॉन्टेंट लोगो भी बहुत अच्छा लग रहा है। उस समय आप अपनी वेबसाइट की Ebooks तैयार कर ले और उसे बेचना प्रारंभ करे । आप अपनी वेबसाइट के कवर पेज के लिए अच्छे से Canva वेबसाइट का उपयोग करके एक कवर फ़ोटो बना लें, ताकि ज्यादा से ज्यादा Selling हो सकें!

6. Online कोर्स बेचकर

यदि आप किसी कोर्स को खुद का बना सकते है आपको जो भी नॉलेज हो, उस पर अपना कोर्स बनाकर अपनी वेबसाइट की मदद से बेच सकते हैं और यह एक बेहतराइन पैसे कमाने का तरीका है।

7. ECommerce Business से

यदि आपके कोई प्रोजेक्ट है या कोई ऐसी चीज है जिसे आप ECommerce Business में तब्दील करके अपना खुद का Business खड़ा कर सकते है। और आपको तो पता है है, की Business में कितने पैसे की कमाई होती हैं। यह आपकी वेबसाइट से पैसे कमाने वाला अच्छा तरीका हैं।

8. WordPress की Plugins और Theme डिवेलप करके।

यदि आप एक developer है और इंटरनेट का ज्ञान रखते गई और कम्प्यूटर टेक्नोलॉजी का ज्ञान प्राप्त है तब इस समय आप अपने खुद के Plugins और Theme बनाए और उन डिवेलप किए हुए Theme और Plugins को sell करके कमा सकते हैं।

बेस्ट 5 होस्टिंग नए ब्लॉगर्स के लिए Best 5 Cheap Hosting For Beginner Bloggers

9. Donations स्वीकार करें

जब आप Paypal donate button या कोई अन्य donation button को अपने वेबसाइट पर जोड़ते है उस समय आपके विजीटर्स को कंटेंट या Service अच्छी लगने की स्थिति में वह आपको Donate के रूप में पैसे प्रदान कर सकता हैं। WPForms जैसी प्लगिन के इस्तेमाल से आप donation बना सकते हैं।

हमारी वेबसाइट सर्विस

हां तो दोस्तों आप यहा तक पढ़ा है तो नीचे हम भी आपको हमारी सर्विस के बारे में बता रहे है। उसे भी पढ़ें।

सर्विस 1. जैसे की आपके ऊपर वेबसाइट से पैसे कमाने के बारे में पढ़ा , अब यदि आपके मन में कोई वेबसाइट बनाने की इक्षा जाग रही है, तो आप हमसे संपर्क करके या gonewzy@gmail.com मेल भेजकर अपनी वेबसाइट कम से कम बजट में बनवा सकते हैं।

सर्विस 2. यदि आप हमारी किसी लिंक से होस्टिंग खरीदकर वेबसाइट खुद ही बना रहे है, तब उस समय हम आपको हमारी Search Engine Optimization (SEO) सर्विस के वर्शन 2.O को खरीद सकते हैं। (नोट – जब आप हमारी किसी लिंक से होस्टिंग खरीदें तब जीमेल अवश्य कर दें ताकि हम आपको SEO सर्विस वर्शन 1.O को मुफ्त में कॉल सपोर्ट द्वारा पहुंचा सके यह बिल्कुल मुफ्त हैं) को हमारे किसी लिंक से परचेज करके

ये भी पढ़ेंहोस्टिंगर पर वर्डप्रेस वेबसाइट कैसे बनाएं Hostinger par WordPress Website kaise banaye

समापन: अब आपने यह तक पढ़ लिया है तब आपको अच्छी से कॉमेंट अवश्य करना है। और इस पेज को अन्य जरूरतमंद दोस्तों तक पहुंचाएं ताकि उन्हें भी ऐसे पेज प्राप्त कर सकें।

वेबसाइट कैसे बनाएं – How to start website in hindi

[ब्लॉग या वेबसाइट कैसे बनाएं] How to start blog OR website in hindi

आज के इस समय में इंटरनेट का जमाना है। हर कोई इंटरनेट पर कुछ न कुछ सर्च अवश्य करता ही हैं। इस समय अपने कभी सोचा की जिस वेबसाइट पर आप जाकर पढ़ते है। वे किसी न किसी ने तो बनाई होगी। जीहां यदि आपने अभी तक ऐसा भी सोचा तो अब आपके दिमाग में ये सवाल उड़ने लगाएगा। और जैसे जैसे इस पोस्ट को आगे पढ़ते जाओगे आपको और भी ज्यादा जानने की जिज्ञासा जागृत होगी।

अपना खुद का [ब्लॉग या वेबसाइट कैसे बनाएं] – How to start blog OR website in hindi

लेकिन आगे बढ़े उससे पहले ही आपको आगाह कर दे की किसी भी तरह से आपको लगे कि हमसे संपर्क करना चाहिए तो आप हमसे संपर्क अवश्य करे। ताकि हमारी टीम आपकी समस्याओं को सुलझा सकें।

तो दोस्तों अब हम अपने टॉपिक पर आते है, जिसके बारे ने अपने हम बात कर दे थे की जो वेबसाइट पर जाकर हम जानकारी पढ़ते है वो किसकी होगी। तो दोस्ती हम आपको बता दें की ये भी आप हम जैसे लोगों की वेबसाइट रहती है।

आप भी वैसी खुद की वेबसाइट बना सकते है। वो भी अपने खुद के दम पर और अब बात आती है की वेबसाइट से फायदा क्या होता होगा। तो आपको बता दें की उससे आप कमाई भी कर सकते हैं। वेबसाइट कमाई के कई तरीके है। खैर अभी हम उन तरीको की बात नही करेंगे । वो आपको किसी अन्य पोस्ट में बता देंगे

लेकिन आप हम आपको बता दें की इस पेज को यदि पूरा पढ़ लिया तो आप इतना तो पक्का है की आप अपनी खुद की वेबसाइट बना लेंगे। और अच्छी कमाई भी कर सकेंगे।

हम आपको बता दें की धीरे धीरे समझने का प्रयास करे क्योंकि हमारा ये पेज बढ़ा हो सकता है, लेकिन आपको उतना विश्वास दिलाते है, की आप अपनी खुद की वेबसाइट ब्लॉग जरूर बना पाएंगे।

नीचे हम कुछ चरण बताने वाले है जिन्हे क्रम से पढ़े और फिर भी कोई सलाह चाहिए तो कॉमेंट करें या संपर्क करें

आपको बता दें की आपका खुद का ब्लॉग वेबसाइट बनाने के लिए इस पोस्ट को पूरा पढ़ने के बार ज्यादा से ज्यादा 15 मिनट लगेंगे।

वेबसाइट कैसे बनाएं

Step 1. टॉपिक का चयन

आपको सबसे पहले अपने टॉपिक का चयन करना होगा। जिस पर आप वेबसाइट बनाना चाहते हैं। जैसे की आपको “Health And Fitness” का सोक है और आप उस पर पोस्ट लिख सकते हो । तो आपको उसी चयन करके दिमाग में रख लेना है। बाद ने काम आयेगा। आप किसी भी टॉपिक पर वेबसाइट बना सकते है जो आपको इंटरेस्टेड लगे और जिस पर आपको लिखने में अच्छा लगे।

और जब आप एक ही टॉपिक पर कई सारे अलग अलग पोस्ट लिखते हो तो आपकी वेबसाइट को लोगो के बीच विश्वास बढ़ेगा और आपकी कमाई भी अधिक होगी।

[नोट – यदि आप हमारे किसी लिंक से होस्टिंग लेते है तो कृपया हमे gonewzy@gmail.com पर बता सकते है ताकि हम आपको अतिरिक्त सुविधाए मुफ्त में आप तक पहुंचा सकें।]

Step 2. Domain & Hosting चयन

अब जब आप मन बना ही चुके हो को खुद की वेबसाइट बनाना है। तो हम आपको बता दें की उसके लिए आपको एक डोमेन और होस्टिंग की जरूरत होगी। वैसे आपको बता दें की डोमेन की कीमत लगभग ₹1000 तक होती है। लेकिन हम आपको मुफ्त में डोमेन दिलवाने वाले है, यदि आप हमारे किसी लिंक से होस्टिंग खरीदते है। अब होस्टिंग के बार करे तो हमने आपके लिए नीचे एक होस्टिंग कंपनी का लिंक दिया है वह से जाकर होस्टिंग ले सकते है।

अब हम आपको बताते है की वेबसाइट के लिए डोमेन और होस्टिंग कैसे लें।

नीचे के चरण को स्टेप से करते चले और डोमेन और होस्टिंग buy करने के प्रक्रिया को पूरा करें। आप अभी नया ब्लॉग वेबसाइट बना रहे है इसलिए हम आपको Hostinger के Premium Web Hosting प्लान लेने के लिए कहेंगे क्योंकि वह सस्ता और नए ब्लॉगर्स के लिए अच्छा प्लान है। आगे के Process नीचे है  –

• आप सबसे पहले इस लिंक- https://www.hostg.xyz/SH8Wm के द्वारा Hostinger की Official website पर जाएं! या नीचे के इमेज पर क्लिक करके Hostinger Official वेबसाइट पर पहुंचे।

Hosting Hostinger best offer today

• जब आप सफलता पूर्वक हमारे विशेष लिंक या इमेज पर क्लिक करके Hostinger पर पहुंच जाए । तब आपके सामने नीचे के इमेज जैसे पेज ओपन होगा।

hosting Hostinger hone page login

• ऊपर के इमेज में बताए अनुसार जब आप तीन लाइन जैसे मेनू पर क्लिक करें। और नीचे बनाए इमेज अनुसार Options खुलकर आयेंगे। उसमे Hosting पर क्लिक करें!

hosting Hostinger options

• ऊपर के इमेज ने बताए अनुसार जब आप होस्टिंग ऑप्शन पर क्लिक करते है। आपके सामने नीचे जो इमेज बताई गई है उस जैसे कई Options दिखाई देंगे । उनमें से Shared Web Hosting पर क्लिक करें! और नया पेज ओपन हो जायेगा।

hosting Hostinger shared web hosting options

• जब नया पेज ओपन हो जाए तो पेज को कुछ Scroll करने पर आपको उनमें होस्टिंग के तीन प्लान (Single Web Hosting, Premium Web Hosting और Business Web Hosting दिखाई देंगे।

• अगर आप बिलकुल ही नए है। आपको ज्यादा जानकारी नहीं है की कौनसे प्लान को चयन करें तो हम आपको बताते है की आप यहां Premium Web Hosting को चुने। जैसा नीचे इमेज में बताया गया है।

Hostinger hosting choose your web hosting plan page

• Premium Web Hosting प्लान के नीचे जो Add To Cart दिख रहा है उसे क्लिक करें।

Add To Cart पर क्लिक करने पर आपके सामने एक नया पेज आयेगा। उसमे आपको कुछ महीने के अनुसार Offers और प्लान मिलेगा। आप अपने अनुसार कुछ भी  सिलेक्ट कर सकते है। यदि आप समझ नही पा रहे है । तो आपको हम 24 महीने वाले को सिलेक्ट करके का सुझाव देंगे।

Hostinger Hosting buy page payment

• जब आप 24 महीने का प्लान चुन ले उसके बार दूसरा ऑप्शन Create your account दिखेगा। उसने आप gmail से या डायरेक्ट Google के Logo पर क्लिक करके, अपने जीमेल Id से पर क्लिक कर ले।

• जब आप ये कर ले उसके बाद Select payment के कई ऑप्शन है। उनमें से आप किसी का भी इस्तेमाल करके यह पेमेंट कर दें। हम UPI को चुनते है।

• उसके बाद जब आप Submit Secure Payment पर क्लिक करते है। तो आपका Address, City और आपका State का चयन करने के बाद Continue Payment पर क्लिक करना है। और Google Pay या Phone Pe से अपना Payment कर देना है।

[सूचना – अपने सफलता पूर्वक पेमेट कर दी है और आगे के प्रोसेस आपको समझ नही आ रहे है। तो आप हमसे मेल करके समझ सकते है।]

Step 3. Website & Domain Setup

• जब आप सफलता पूर्वक अपना Payment कर देते है  आपको दोबारा Hostinger वेबसाइट पर आ जाना है और उसी Gmail iD से Login कर लेना है।

• अब यह लॉगिन करने के बाद आपके सामने ऑप्शन जाएगा इस पर आपके Claim free Domain कही मिलेगा वहा से आप अपना डोमेन को मुफ्त में ले सकत है। एक बार डोमेन  रजिस्टर्ड की प्रोसेस पूरी हो जाए।

• तो फिर आपको होम पेज पर आ जाए।

Hostinger premium web hosting serup

• Setup पर क्लिक करके । न्यू पेज पर Start Now करें। यदि अपने ऊपर पहले ही होस्टिंग से मुफ्त डोमेन ले लिया है तो आप Use Existing Domin सिलेक्ट करे।

• उसके बाद आगे बढ़ जाए आपके सामने 2 ऑप्शन आयेंगे। उनमें से किसी पर भी सिलेक्ट न करे नीचे Skip, I will Start पर क्लिक करना है। और Finish setup पर क्लिक कर देना है। और नए ऑप्शन आयेंगा उनमें Skip कर देना है।

• उसके बाद कुछ देर रुखना है।

Step 4. Website Setup

• फिर Cantrol panel manage site पर क्लिक करना है।

• यदि अपना डोमेन रजिस्ट्रेशन हो गया है को कोई प्राब्लम नही अन्यथा आपके स्क्रीन को ऊपर नोटिफिकेशन शो हो जायगा।

• अब आपको दोबारा Hostinger होम पेज पर आ जाना है। और आपको होस्टिंग सर्विस के सामने Manage ऑप्शन दिखेगा । उस पर क्लिक करें।

Hostinger Home page login and manage option

• उसके बार आप Page को Scroll करें! नीचे Auto Installer का Option मिल जायेगा! इस पर Click कीजिये।

Hostinger manage auto installer website

• Auto Installer पर ओपन होने का बाद वहां आपको WordPress को Select कर लेना है।

Hostinger auto installer website wordpress click

• उसके बार आपके सामने एक अन्य ऑप्शन ओपन होंगा उसमे आपको लॉगिंग के लिए Website की जानकारी आने याददस्त अनुसार डाले जैसे user name और password.

Hostinger install WordPress Website username and password setup

Install WordPress

  1. आप जब ऑप्शन को चुन रहे हो उस टाइम Domain वाले बॉक्स में http:// में बदलाब न करे।
  2. एवं आपके डोमेन मान में भी बदलाव नही करना हैं।
  3. WordPress के सेक्शन में कुछ भी नही भरना है।
  4. Owerwrite Existing Files पर टिक लगा दे। ताकि कोई अलग से फाइल होगी तो वह हट जाएगी।
  5. Administrator Username पर आपको username वो डाले जिसे आप याद रख पाए।
  6. Administrator Password पर आपको username वो डाले जिसे आप याद रख पाए। एवं वह कठिन हो ताकि किसी अन्य को मिल न पाए।
  7. Administrator Email में आपको Gmail id लिखे ताकि आपको संबंधित अपडेट एवं पासवर्ड बगेरा भूलने पर दोबारा पाने हेतु जीमेल से पा सकें।
  8. Website Title बॉक्स में अपनी वेबसाइट जिस पर है उसको लिखे यह बाद में चेंज भी कर सकते है।
  9. Version और लैंग्वेज को कुछ भी बदलाब न करें।
  10. इसके बाद install के आप्शन पर टेप कर दीजिये।
  11. जैसे ही आप सभी install की प्रक्रिया के लिए कुछ देर रूखे लेकिन आप इस समय कुछ भी हटाना भी हैं। रूखे रहें।

अब आपको वेबसाइट बन चुकी है। बधाई हो!

Step 5. Website login

WordPress login करना चाहते हो तो आप डायरेक्ट url में अपनी वेबसाइट के नाम के आगे /wp-admin/ लिखे और खोजे या Enter करें।

उदाहरण के लिए मेरी वेबसाइट का नाम url ; https://gonewzy.com है जब मैं अपने वर्डप्रेस के डेकबोर्ड तक या पैनल को खोलना चाऊंगा में https://gonewzy.com/wp-admin/ लिखने के बाद इंटर हो जाऊंगा।

उसके बाद Administrator User name और Password डालकर WORDPRESS को login कर पाऊंगा।

Hostinger WordPress log in username and password

तत्पश्चात आप अपनी वेबसाइट पर पोस्ट लेख या अन्य पेज को लिख पाएंगे एवं थीम एवं अन्य कार्य इसी डेकबोर्ड के सहारे हर कार्य कर सकते हैं।

Step 6. Website theme setup

वर्डप्रेस वेबसाइट की थीम कैसे बदलें Website ki theme kaise change kare

वर्डप्रेस वेबसाइट की थीम कैसे बदलें Website ki theme kaise change kare

जब आप वर्डप्रेस वेबसाइट को बनाकर तैयार कर ले एवं जिसके डिजाइन को अपने अनुसार थीम में सजना चाह रहे हो। तो आपको अपनी वेबसाइट के थीम में चेंज करने की जरूरत पढ़ती है। नीचे थीम परिवर्तन के कुछ चरण निर्देश दिए है उन्हें स्टेप से अनुसरण कराते चलें –

  1. वर्डप्रेस वेबसाइट के डेसबोर्ड को लॉगिन करे मुख्य वर्डप्रेस डेसबोर्ड तक पहुंचे।
  2. उसमे Appriance ऑप्शन में जाए वहा Themes के ऑप्शन को चुने एवं की क्षण रूखे।
  3. नए पेज ओपन हो जाने पर Add New ऑप्शन के अनुसरण करे।
  4. अब आपको इसमें कई अलग अलग ऑप्शन जैसे Featured, Popular, Latest Favaroits and Feature Filters दिखाई पढ़ते है।
  5. इन सभी में से आप अन्य पसंदीद थीम को चुनाव करे एवं उसे ओपन करके install पर चुने।
  6. जैसे ही कुछ सेकंड्स में इंस्टॉल प्रक्रिया पूर्णता प्राप्त करे अब अब आप अपने थीम को Activate करने के लिए उत्सुक रहे।
  7. Activate करते ही आपको वेबसाइट उस नई थीम में बदल जायेगी तो लीजिए अब आपकी थीम बदल चुकी हैं।

नीचे हम आपको पोस्ट लिखने के कुछ चरण बता रहे है

Step 7. Post लिखना

वर्डप्रेस में पोस्ट कैसे लिखें WordPress me post kaise likhe

वर्डप्रेस में पोस्ट कैसे लिखें WordPress me post kaise likhe

  1. वर्डप्रेस वेबसाइट के डेसबोर्ड को लॉगिन करे मुख्य वर्डप्रेस डेसबोर्ड तक पहुंचे।
  2. WordPress में login करने के पश्चात आपको सबसे पहले डैशबोर्ड में Posts ऑप्शन दिखान देगा उसे चुने।
  3.  इसमें All Posts के नीचे Add New पर दवाएं।
  4. इसके बाद एडिटर ओपन हो जायेगा इसमें आप अपनी पोस्ट तैयार कर सकते हैं।
  5. एक अच्छा सा Title और इसके बारे में नीचे पोस्ट को लिखकर पूर्णता प्राप्त करें और पब्लिक करें।

तो दोस्तों अब आपकी खुद की वेबसाइट बनाकर तैयार हो चुकी है। आप इस पर पोस्ट लिखे और जैसे जैसे आप पोस्ट लिखते आपको अन्य जानकारी भी होती जायेगी।

जैसे की हमने आपको ऊपर होस्टिंग खरीदने के विशेष लिंक के बारे में बताया था वह नीचे भी है आप यहां से भी वहा तक पहुंच सकते है।

Hostinger Hosting Buy

जब आप होस्टिंग हमारे लिंक से खरीद लेते हों तो आप हमसे संपर्क करके या gonewzy@gmail.com पर मेल करके समझ सकते है।

आपको यदि लगता है कि हमारा यह पेज आपके लिए Helpful रहा होगा। आप एक काम जरूर करें की कोई अन्य दोस्त है जो अपनी वेबसाइट बनाना चाहता है तो उस तक आप इस पेज के लिंक को Share कर सकते हो!

Read – 

1. डोमेन नाम क्या है Domain name kya hai

2. मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम क्या होता है Mobile operating system kya hota hai in hindi

पढ़ने के लिए धन्यवाद!

वेब क्रॉलिंग क्या है Web crawling kya hai

वेब क्रॉलिंग क्या है – Web crawling kya hai

जब आप किसी वेबसाइट को बनाएं है उस समय इसे सर्च इंजन में रैंक करना थोड़ा मुस्कील होता है। चाहे हो गूगल सर्च इंजन हो या बिंग या याहू हो आपको SERPs (Search Engine Results Page’s) के पहले पेज तक रैंक करना जरूरी होता है। तभी आपकी वेबसाइट पर ज्यादा ट्रैफिक आता है।

इसलिए हम इसी में जो की क्रोलिंग की बेसिक प्रक्रिया है उसको जानने वाले हैं। और इस पेज पर जानेंगे की Web Crawling क्या है. Web Crawlers कैसे काम करती है? ऐसे कई सवाल को आप इस पोस्ट में जानने वाले है।

Web Crawling kya hai

आपको पता ही होगा की इस वर्ष में बहुत भारी मात्रा में इंटरनेट यूजर्स की संख्या बड़ रही है और आगे भी इसका ही जमाना आने वाला है। ऐसे में गूगल और बिंग दोनो ही खोज इंजन में अंदर रैंकिंग और Web Crawlers के तरीके को बदला जा रहा है, एवं उन्ही वेबसाइट को शीर्ष में दिखाया जा रहा जो यूजर्स को सही जानकारी मुहैया करा रही।

यदि आप गूगल के ब्लॉगर का इस्तेमाल कर रहे है और आप चाहते हो की वर्डप्रेस वेबसाइट की ओर बढ़े। लिखी आप होस्टिंग और डोमेन के लिए परेशान हो रहे की कहा से ले तो आप हमारे बेस्ट 5 होस्टिंग नए ब्लॉगर्स के लिए Best 5 Cheap Hosting For Beginner Bloggers के पेज को पढ़ सकते है। और फिर भआई आपको कोई समस्या आ रही है तो आप हमसे संपर्क करें ताकि आपको हमारी टीम सही होस्टिंग परचेज करने में सहायक हो।

आपको बता दे की जब आप अपनी वेबसाइट को Google में सबमिट या पब्लिक करते है। तो गूगल सबसे प्रथम कार्य आपकी वेबसाइट को Crawling द्वारा ही परखता है। और इस Crawling में आपके कंटेंट की भी जांच परख होती है।उसके बार गूगल आने निर्णय अनुसार SERPs (Search Engine Results Page’s) में आपके पोस्ट या पेज को रैंक करने प्रारंभ करती है।

यदि कोई भी वेस्ट सही रूप से Web Crawling के नियमों को पालन करती है और उस पर मौजूद हर पोस्ट को सही तरीके से क्रोल किया का रहा इसका मतलब के वह अच्छे से अपने Web Crawling को संभाले हुए है। अब नीचे हम आपको बताने वाले है की Web Crawling kya hota hai, आपके पोस्ट के SEO में Web Crawling क्या महत्व रखता है। Google के कौन से Ranking Factors Crawling करते है। ऐसे कई जानकारी के लिए अपना पढ़ना जारी रखे।

Web Crawling क्या है? 

जब भी इंटरनेट के सहारे गूगल पर कोई यूजर कुछ भी खोजता है । तो गूगल के बोट्स अपने Google server के database में संग्रहित सूचनाओं या अपडेट्स को यूजर के लिए निकलकर लाता है। ये सभी Relevant होते है। जो परिणाम यूजर्स के सामने दिखाई देते है इस समय की इस प्रक्रिया को Web Crawling कहते है। ओर जो जानकारी Search करते है, उन उपक्रम को Web Crawler , Spider या Bots बोलते है।

अन्य भाषा में Crawling का अर्थ है Particular रास्ते से अनुसरण करना । आप वेबसाइट पर जब वेब पेज पर किसी भी लिंक से जाते है चाहो वो Internal linking हो या External linking हो। तब Google के Web Crawler उन्ही के जरिए आपकी वेबसाइट तक पहुंच मार्ग बनते है। और Indexing प्रक्रिया हेतु उत्सुक रहते है। एक बार जब Indexing प्रोसेस पूरी हो जाती है तब SERPs में रैंक होना प्रारंभ हो जाता है।

अगर आप नवीन ब्लॉगर्स में से हो तो आपको अपनी रैंक में slow rank की समस्या होगी। उस समय आप Sitemap का अच्छे से बनाए क्योंकि इसमें आपके वेबसाइट के हर पेज के लिंक्स होते है। और गूगल के डायरेक्ट साइटमैप भी सबमिट कर सकते है।

SEO में Web Crawling क्या महत्व रखता है।

वेबसाइट का SEO का भाग बहुत जटिल है लेकिन फिर भी हम कुछ न कुछ हर किसी को आता है। SEO का मतलब है search engine optimization। जब आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट के ऊपर SEO को गुणवत्ता वाला भाग निर्मित करते है तब आपको वेबसाइट उच्च परिणाम एवं Organic traffic को पाने में सफल रहती है।

Web pages को Crawling की स्थिति में गूगल के लिए ready कही जाती है। क्योंकि Website को रैंक कराने के लिए Crawling सबसे पहला स्टेप है।

आपको बता दें की किसी भी Pages की crawling अच्छी रहती है तब On Page SEO और Off Page SEO द्वारा व्यक्त करते है। यदि किसी पेज को क्रोलिंग नही करना हो उस समय आप No Index Meta Tag को इस्तेमाल करते है। Web Crawling में एस ई ओ और Crawlers दोनों रहकर काम करते है।

Web Crawlers कैसे काम करते है?

ऊपर की ओर अपने जाना की Google Crawling क्या है और SEO के अंदर क्या महत्व है। उसके बाद अब हम आपको Web Crawlers कैसे काम करते है उन्हें जानने की चेष्ठा करते है मान लीजिए की आप अपने किसी पेज को गूगल SERPs टॉप पर रैंक कर रखी है। उस पर दैनिक रूप से visitors आते है। और उससे आपके web pages को अच्छे खासे विजिट्स मिलते है।

ऐसे में जब कोई नए विजीटर्स को आपके अलावा अच्छा कंटेंट मिलता है तो वह इसे वह पर रैंक करने के लिख अभी कभी परिणामों में शमिल करते है। जिसके बाद यूजर्स के अच्छे अवसर मिलने से एवं वह रैंक होने के चांस राहत है। इसके लिए Google Search Engine पर उपलब्ध एवं सबमिट करना एवं अपने पुराने pages को जब आप अपडेट करता है Crawlers इस समय जिम्मेदार से कंटेंट की जांच करते है।

और अपने crawler crawling की साधारण प्रक्रिया को प्रारंभ करते है। Web crawler search queries के Google Search Console सबमिट यूआरएल के अनुसार ही मुख्य relevant pages को आपस में कंपेयर करके रैंक अनुसार जमाया जाता है।

यदि अभी भी आपको समझ नही आ रहा है तो कोई बात नही एक उदाहरण से बताते है। मान लो कोई User गूगल के खोज इंजन में टाइप करता है की “गूगल किस देश की कंपनी है” । तो उसी समय Web Crawlers “गूगल किस देश की कंपनी है” के जैसे रिलेटेड पेज के Meta Description, Heading (H1, H2), Hyperlink, Passage Indexing आदि में search करना प्रारंभ कर देता है। और जो परिणाम एकदम relevant होता है उन्हें आपके सामने क्रम से प्रस्तुत करता है। Google उन्ही परिणामों को user को दिखाता है Web Spiders के यह क्रिया बहुत कम समय में या यू कहे की मिनी सेकंड्स में परिणाम दिखाने होते है। इसलिए web page Crawl करने का मान कंटेंट पब्लिक होने के समय ही करवा लिया जाता है। और उसे particular जगह एवं कीवर्ड पर जगह प्रदान कर दी जाती है। आपको बता दें की जब भी page की Crawling करने के बाद फिर कब उस Updated web page को crawling करना यह सब policy पर निर्भर करता है।

Crawling के कुछ Ranking तथ्य

Ranking में Crawling को कैसे Affect करते है और ये तथ्य आपकी वेबसाइट को प्रभावित रूप से कार्य करने में मदद प्रदान करते है। जैसे की आपको तो तक है की इंटरनेट पर कई millions वेबसाइट उपलब्ध है। लेकिन websites Google के Crawling और Indexing उन्ही को करता है जो बहुत ही यूनिक और रिलीवेट हो। आपको यह जानकर दुख हो सकता है की अधिकतर नए लोग अपना अनुभव को ज्यादा समान तक न रखकर वे सिर्फ 3 से 4 महीने में अपने वेबसाइट को बंद कर देने है । उन्हें लगता है की अब कुछ नही हो पाएगा । लेकिन यह उनकी गलती है। वे अपने websites search engine result page पर rank ही नहीं कर पाते है। आपको बता दें की उन्हें हमारे ये कुछ नीचे दिए गए Ranking Factors पर कार्य करने की जरूरत है जिसके बाद आप गूगल के परिणामों ने आपकी वेबसाइट दिखाई देना प्रारंभ कर देंगी। ये कुछ नीचे है –

1. XML Sitemap

यदि आप किस वेबसाइट को WordPress पर बनाते है उस समय XML Sitemap जरूर इस्तेमाल करना चाहिए। आप जब एक बार सही Sitemap generate कर लेता है उस समय आपको कुछ बदलाब या साइटमैप की छेड़खानी नही करना है। यह Automatic update होता रहता है।

और आपको बता दें की Website update सभी होने से Web crawlers sitemap को आसानी से crawl और रैंक करने में मदद करते है।

2. Robots.txt

आपके वर्डप्रेस पर Robots.txt file को जरुर तैयार करे एवं अपने क्योंकि यह सभी Web crawlers को सही रूप से आदेश देती है। किसी किस किस पेज को या पोस्ट को bots द्वारा अनुमति दी गई है। Neil Patel का यह मानना है की Bots से ही Crawling का कार्य होता है। कोई भी Bots या crawler सबसे पहले इसी फाइल के अनुसार करती है। जब इसका आभाव होता है तो उस समय वह अपने हिसाब से क्रोलिंग प्रक्रिया करते है।

3. Internal Linking

जब आप अपने पोस्ट को किसी अन्य पोस्ट के साथ लिंक द्वारा जोड़ा जाता है । तो वह Internal Linking होता है। आपको बता दें की इसे deep Linking भी बोलते है। जब crawlers आपके पोस्ट को crawl कर रहे हो एवं उसमे आने वाली लिंक्स के भी अनुसरण करके संबंधित पेजेस तक पहुंचते है। जिससे उन्हें भी रैंक मिलती है।

जब रैंक मिलती है तो ट्रैफिक भी बढ़ता है। और वेबसाइट पर विजीटर्स एवं क्रेलर के विश्वास को भी जीता जाता है।

4. Backlinks

जब आप अपनी वेबसाइट के लिए किसी अन्य वेबसाइट से लिंक लेते है तो आपको Backlinks मिलते है। जिससे आपकी साइट की value बढ़ती है।

कभी कभी आपकी वेबसाइट पर कोई भी backlinks का न होने से भी आपकी website Search Engine में रैंक नही हो पाती है।

Web Crawling kya hai: निष्कर्ष

आपने यह पेज पर Web Crawling kya hai ? के संबंध ने कई सारे शब्दों में तथ्यों के अनुसार किए। यह आपको कैसा लगा कॉमेंट में बताए एवं अन्य दोस्तों को भी पहुंचाए। ताकि वे भी Web Crawling को जान सके। क्योंकि आज कल इंटरनेट पर हर कोई खोजता रहता है।उन्हें ऐसे ज्ञान होना जरूरी रहता है।

होस्टिंगर पर वर्डप्रेस वेबसाइट कैसे बनाएं Hostinger par WordPress Website kaise banaye

How To Create A WordPress Website in Hindi. होस्टिंगर पर वर्डप्रेस वेबसाइट कैसे बनाएं

वर्डप्रेस वेबसाइट को ऐसे होस्टिंगर को की होस्टिंग पर कैसे इंस्टाल करते है ये आज हम इस पेज पर जानने वाले हैं। लेखन उससे पहले बता दें की होस्टिंगर की होस्टिंग को आप कैसे और कौनसे प्लान का चुनाव करना चाहिए ये सभी होस्टिंग होस्टिंगर रिव्यू (Hostinger Review) वाले पोस्ट में बताया हुआ है।

तो दोस्तों अब हम आपको बिना किसी समय बरवाबाद किए WordPress को install कैसे करते है एवं WordPress पर वेबसाइट कैसे बनाते है।

Hostinger WordPress Website kaise banaye, होस्टिंगर पर वर्डप्रेस वेबसाइट कैसे बनाएं Hostinger par WordPress Website kaise banaye

अपने बेवसाइट बनाने हेतु आपको सबसे पहले एक डोमेन और एक अच्छा होस्टिंग प्लान चुनना चाहिए। और इसको कनेक्ट करना भी पढ़ता है। जब आप Domain को होस्टिंग से जोड़ने या कनेक्ट कर लेने के बाद वर्डप्रेस को इनस्टॉल करने के लिए चयन विशेष है।

WordPress Install Kaise Kare

WordPress Installation की प्रोसेस Hosting के अनुभव पर अनुसरण करती है, क्योंकि हर कंपनी के होस्टिंग डैशबोर्ड को अलग अलग रूप में तैयार किया जाता है।  इसलिए हर होस्टिंग की में WordPress Installation प्रोसेस भिन्न हो सकती है।

यह हमारी टीम द्वारा Hostinger की होस्टिंग पर WordPress install करने के कुछ चरण नीचे दिए है।क्योंकि हमारी ये वेबसाइट भी इसी तरह इसी पर होस्ट की गई है। इसलिए हम इसी पर WordPress बनाना सीखते हैं।

Step 1

आप जब होस्टिंग की किसी भी होस्टिंग प्लान को चयन करके परचेज कर लेते है तो उसके बाद आपको Hostinger के मुख्य पेज पर लॉगिन कर लेना है। जैसे ही आप होम पेज पर रहते है तो आपको आपको परचेज की गई होस्टिंग नजर आएंगे इस पर आपको Manage के ऑप्शन पर क्लिक करना है।

Hostinger Home page login and manage option

Step 2

आप जैसे ही Manage ऑप्शन को खोलने नया पेज आयेगा उसमे आपको डोमेन का नाम दिखाई देगा। Domain Name select करें और आप उस डोमेन को चूने जो आप यह चुनना चाहते हैं।

Step 3

डोमेन सिलेक्ट करने पर कुछ स्क्रॉल करे आपको एक ऑप्शन Auto Installer दिखेगा इसको चुने। और आगे बढ़ने के लिए दवाएं।

Hostinger manage auto installer website

यह से आप WordPress Installation को शुरू कर पायेंगे । Auto Installer में आने के बाद आपके सामने कई सारे ऑप्शन आने वाले है  उनमें से WordPress को सिलेक्ट करे या चुने।

Hostinger auto installer website wordpress click

Step 4

उसके बार आपके सामने एक अन्य ऑप्शन या विंडो ओपन होंगी उसमे आपको लॉगिंग के लिए Website की जानकारी आने याददस्त अनुसार डाले जैसे user name और password.

Hostinger install WordPress Website username and password setup

Install WordPress

  1. आप जब ऑप्शन को चुन रहे हो उस टाइम Domain वाले बॉक्स में http:// में बदलाब न करे।
  2. एवं आपके डोमेन मान में भी बदलाव नही करना हैं।
  3. WordPress के सेक्शन में कुछ भी नही भरना है।
  4. Owerwrite Existing Files पर टिक लगा दे। ताकि कोई अलग से फाइल होगी तो वह हट जाएगी।
  5. Administrator Username पर आपको username वो डाले जिसे आप याद रख पाए।
  6. Administrator Password पर आपको username वो डाले जिसे आप याद रख पाए। एवं वह कठिन हो ताकि किसी अन्य को मिल न पाए।
  7. Administrator Email में आपको Gmail id लिखे ताकि आपको संबंधित अपडेट एवं पासवर्ड बगेरा भूलने पर दोबारा पाने हेतु जीमेल से पा सकें।
  8. Website Title बॉक्स में अपनी वेबसाइट जिस पर है उसको लिखे यह बाद में चेंज भी कर सकते है।
  9. Version और लैंग्वेज को कुछ भी बदलाब न करें।
  10. इसके बाद install के आप्शन पर टेप कर दीजिये।
  11. जैसे ही आप सभी install की प्रक्रिया के लिए कुछ देर रखे लेकिन आप इस समय कुछ भी हटाना भी हैं। रूखे रहें।

Step 5

जब Install प्रक्रिया कुछ समय से कंप्लीट ही जाते तक आपको Domain name, Auto Installer वाले सेक्शन एमएस आपका अपनी वेबसाइट खुल जायेगी।

इस पेज से आप वर्डप्रेस पर जाकर डैशबोर्ड तक पहुंच कर आगे की प्रक्रिया में wordpress का login पेज आ जायेगा। यह आप यूजर नेम और पासवर्ड से अंदर प्रवेश कर पाएगा।

WordPress वेबसाइट में login कैसे करते है?

WordPress login करना चाहते हो तो आप डायरेक्ट url में अपनी वेबसाइट के नाम के आगे /wp-admin/ लिखे और खोजे या Enter करें।

उदाहरण के लिए मेरी वेबसाइट का नाम url ; https://gonewzy.com है जब मैं अपने वर्डप्रेस के डेकबोर्ड तक या पैनल को खोलना चाऊंगा में https://gonewzy.com/wp-admin/ लिखने के बाद इंटर हो जाऊंगा।

उसके बाद Administrator User name और Password डालकर WORDPRESS को login कर पाऊंगा।

Hostinger WordPress log in username and password

तत्पश्चात आप अपनी वेबसाइट पर पोस्ट लेख या अन्य पेज को लिख पाएंगे एवं थीम एवं अन्य कार्य इसी डेकबोर्ड के सहारे हर कार्य कर सकते हैं।

> डोमेन क्या होता हैं।

वर्डप्रेस वेबसाइट की थीम कैसे बदलें Website ki theme kaise change kare

वर्डप्रेस वेबसाइट की थीम कैसे बदलें Website ki theme kaise change kare

जब आप वर्डप्रेस वेबसाइट को बनाकर तैयार कर ले एवं जिसके डिजाइन को अपने अनुसार थीम में सजना चाह रहे हो। तो आपको अपनी वेबसाइट के थीम में चेंज करने की जरूरत पढ़ती है। नीचे थीम परिवर्तन के कुछ चरण निर्देश दिए है उन्हें स्टेप से अनुसरण कराते चलें –

  1. वर्डप्रेस वेबसाइट के डेसबोर्ड को लॉगिन करे मुख्य वर्डप्रेस डेसबोर्ड तक पहुंचे।
  2. उसमे Appriance ऑप्शन में जाए वहा Themes के ऑप्शन को चुने एवं की क्षण रूखे।
  3. नए पेज ओपन हो जाने पर Add New ऑप्शन के अनुसरण करे।
  4. अब आपको इसमें कई अलग अलग ऑप्शन जैसे Featured, Popular, Latest Favaroits and Feature Filters दिखाई पढ़ते है।
  5. इन सभी में से आप अन्य पसंदीद थीम को चुनाव करे एवं उसे ओपन करके install पर चुने।
  6. जैसे ही कुछ सेकंड्स में इंस्टॉल प्रक्रिया पूर्णता प्राप्त करे अब अब आप अपने थीम को Activate करने के लिए उत्सुक रहे।
  7. Activate करते ही आपको वेबसाइट उस नई थीम में बदल जायेगी तो लीजिए अब आपकी थीम बदल चुकी हैं।

नीचे हम आपको पोस्ट लिखने के कुछ चरण बता रहे है

वर्डप्रेस में पोस्ट कैसे लिखें WordPress me post kaise likhe

वर्डप्रेस में पोस्ट कैसे लिखें WordPress me post kaise likhe

  1. वर्डप्रेस वेबसाइट के डेसबोर्ड को लॉगिन करे मुख्य वर्डप्रेस डेसबोर्ड तक पहुंचे।
  2. WordPress में login करने के पश्चात आपको सबसे पहले डैशबोर्ड में Posts ऑप्शन दिखान देगा उसे चुने।
  3.  इसमें All Posts के नीचे Add New पर दवाएं।
  4. इसके बाद एडिटर ओपन हो जायेगा इसमें आप अपनी पोस्ट तैयार कर सकते हैं।
  5. एक अच्छा सा Title और इसके बारे में नीचे पोस्ट को लिखकर पूर्णता प्राप्त करें और पब्लिक करें।

बेस्ट होस्टिंग कैसे चयन करें How to choose best hosting in hindi

आशा है की आपको ये पेज पसंद आया होगा। आप होस्टिंगर पर वर्डप्रेस वेबसाइट कैसे बनाएं Hostinger par WordPress Website kaise banaye वाली पोस्ट को अपने अन्य संबंधित दोस्तों को भेजे ताकि उन्हें समस्या न हो।

डोमेन नाम क्या है Domain name kya hai

डोमेन नाम क्या है? Domain name kya hai

जब भी कई व्यक्ति ब्लॉगिंग की बात करे वह हमें यह जरूर बोलता है की तुम्हे डोमेन नाम लेना पड़ेगा । फिर हम सोचते है की यार ये डोमेन नाम क्या है? क्या होता है? या कहा मिलता होगा । ऐसा कई सवाल हमारे दिमाग में उठते हैं । तो आज हमारे इस लेख में आपको ऐसे हर तरह की जानकारी देने के लिए ही हमारी टीम इस पेज को बना रही है ।

कोई भी नई वेबसाइट को बनाएं उससे पहले डोमेन नाम की आवश्यकता हैं । आगे हम बिना समय लिए बताए की डोमेन नाम क्या होता है और कैसे काम करता है?

डोमेन नाम क्या है Domain name kya hai

डोमेन नाम क्या होता है Domain name kya hota hai

हम किसी भी वेबसाइट को जिस नाम से पुकारते गई वह डोमेन नाम होता हैं । जैसे google यानी गूगल के डोमेन का नाम google.com । जिसके द्वारा किसी वेबसाइट को इंटरनेट पर आसानी से खोजा या पहचाना जा सकते वह डोमेन नाम हैं ।

हमारे मानव जाति ने व्यक्ति को जानने एवं पहचान के लिए नाम दिए जाते गई । उसी प्रकार इंटरनेट या डिजिटल दुनिया में एक वेबसाइट की पहचान हेतु उसे डोमेन नाम दिया जाता है ।

सर्च इंजन जैसे गूगल, बिंग या याहू के खोज बॉक्स में इसी डोमेन के नाम को लिखकर वेबसाइट तक पहुंच मार्ग तैयार किया जाता हैं । एवं इसके बार आने वाले परिणाम में उसे डोमेन से संबंधित लेख ही आते हैं ।

डोमेन नाम का आविष्कार क्यों किया गया Domain name ka Abishkar kyon hua

आपको बता दें की कैस शुरुआत ने किसी भी वेबसाइट का कोई डोमेन नाम नही हुआ करता था । उस समय इसे सिर्फ IP Address से ही पहचाना जाता था ।

अरे यार अब ये IP Address क्या है । ऐसा सोचना बंद करिए क्योंकि नीचे हम IP Address के बारे ने भआई बताने वाले है । अपना पढ़ना जारी रखे !

IP Address एक विशेष तरह की नंबर्स की श्रृंखला होती है जैसे 123.376.321.157 ।

IP Address के बारे में बता दें की यह साधारण भाषा में एक वेब सर्वर का पता होता हैं । एक आईपी एड्रेस यह दर्शाता है, की इंटरनेट पर मौजूद कोई वेबसाइट किस वेब एड्रेस पर उपलब्ध है । आपको बता दें की आज भी यह IP Address हर किसी वेबसाइट के लिए होते है । लेकिन यह जैसे जैसे समय बिता ये लोगों को याद रखने में मुस्किले उत्पन्न हुई । इसी समस्या के निवारण हेतु डोमेन नाम (Domain name) इंटरनेट की दुनिया में आया ।

हम आपको नीचे बताए की डोमेन नाम कैसे काम करता है । लेकिन उससे पहले बता दें की डोमेन नाम को Background में किसी भी IP Address से कनेक्ट कर दिया जाता हैं । और जब भी कोई विजिटर उस पर आता है । तो इसे उस नंबर्स वाले IP Address को याद रखने या लिखने को कोई जरूरत नही । बल्कि वह अब सिर्फ उस आईपी एड्रेस से जुड़े डोमेन के नाम को डालने और याद रखने की जरूरत है । जैसे 123.376.321.157, 123.376.321.158 की जगह पर abc.com, example.com ।

> होस्टिंगर की होस्टिंग सर्विस के Hindi Review

डोमेन नाम कैसे काम करता है?

आपको ऊपर बता गया था की बैकग्राउंड में डोमेन नाम जो आईपी एड्रेस की जगह कनेक्ट कर दिया जाता हैं । इसे कनेक्ट करने के लिए DNS रिकॉर्ड्स, Nameserver, Cname, और a record की मदद से जोड़े जाते हैं । आप इन सभी नामों को सुनकर आश्चर्य ने ना पढ़े । ये सभी आसन है जैसे किसी छोटे से फॉर्म को भरना हो, उसी तरह ये सभी जानकारी डालना पढ़ता हैं ।

जब कोई व्यक्ति आपके वेबसाइट के डोमेन नाम को अपने मोबाइल या कंप्यूटर के ब्राउज़र की खोज बॉक्स में लिखे तो आपका ब्राउज़र सबसे पहले DNS (Domain Name System) को एक संदेश की तरह Request भेजता है । DNS आपके ब्राउज़र Request के अनुसार इस IP Address को डोमेन नाम में बदल कर । उस ब्राउज़र में बदला गया डोमेन नाम को वेब एड्रेस या वेब सर्वर के साथ जुड़ने के लिए Get Request पहुंचता हैं ।

Get Request मिलने के पश्चात वेब एड्रेस या वेब सर्वर उस वेबसाइट की एक प्रतिलिपि को ब्राउज़र में पहुंचा देता हैं ।

आपका Browser उस पहुचाई गया वेबसाइट की प्रतिलिपि को प्राप्त करता हैं । और आपके परिणाम को नए डोमेन नाम के साथ वेबसाइट को खोलने के लिए प्रेरित हैं ।

डोमेन नाम की आवश्यकता क्यों होती है Domain name ki aavshykta kyo hoti hai

मान लीजिए आप कोई वेबसाइट बनाना चाहते है । चलो कोई बात नही! आप वेबसाइट तो बना लेंगें, किंतु उस वेबसाइट को लोग इंटरनेट पर खोजेंगे कैसे उसके लिए उसका नाम किसी भी विजिटर या यूजर को बताना जरूरी है । डोमेन नाम इसी काम में आपकी मदद करता है । Domain name किसी भी वेबसाइट को एक यूनिक नाम प्रदान करता हैं जिससे लोगों को वेबसाइट तक पहुंच पाना आसान रहता है ।

आपको बता दें कोई भी यूजर आपकी वेबसाइट को इस डोमेन नाम के बगैर ढूंढ नही पायेगा । किस वेबसाइट को नाम प्रदान करने के अलावा भी वेबसाइट के लिए अन्य कई लाभ उत्पन्न करता है –

विश्वसनीयता बढ़ने ने मदद करें – अपना स्वयं का नाम होना एक बेवसाइट को पेशेवर दिखाने में हेल्प करता हैं । पर यदि आप फ्री डोमेन नाम का चुनाव करते है । तो वह वेबसाइट पेशेवर नहीं दिखेगी और लोगो का विश्वास भी उतना अधिक नही पैदा कर पाती ।

डोमेन ब्रांड की visibility को बढ़ाता है – कुछ लोग अपने बिसनेस को ऑनलाइन इंटरनेट के तरीके से संपन्न करते हैं । उस वक्त एक अच्छा डोमेन नाम आपके बिसनेस ब्रांड की visibility को बढ़ाने में सहायक होगा ।

जब आपका ब्रांड का नाम आपके डोमेन नेम से जुड़ा हुआ रहता है । तो लोगो को जल्दी से याद रखने में एवं दोबारा आने की संभावना भी बढ़ती हैं ।

इंटरनेट उपलब्धता को गतिशील बनाता है – आपकी साइट किसी भी जगह पर किसी भी देश या अन्य देशों में हो फर्क नही पढ़ता । आपकी वेबसाइट का डोमेन नाम बदलता नही हैं ।आप जिस तरफ भी जाए आप आसानी से अपने काम को बढ़ावा देने के लिए डोमेन नेम से गतिशील बना सकते हैं ।

डोमेन नाम के उदाहरण क्या है?

डोमेन नाम के बहुत सारे examples हो सकते हैं जैसे कि :-

youtube.cominstagram.com
google.compaypal.com
facebook.comwikipedia.org
amazon.comtwitter.com

डोमेन नाम के प्रकार Types of domains in hindi

आपको पहले ही बता दें की डोमेन नेम तीन प्रकार के होते है जिनमे से आपको व्यक्त करने में हम नीचे प्रदान कर रहे हैं –

1. Top Level Domain (TLD)

2. Second-Level Domains

3. Third Level Domains

1. Top Level Domain (TLD)

इस डोमेन का नाम इंटरनेट की डीएनएस क्रम अनुसार शीर्ष में आता है । यह कोई भी नाम के दाए वाले हिस्से को व्यक्त करता है जैसे instagram.com एक डोमेन है इसका दाया हिस्सा .com है यह Top Level Domain (TLD) है ।

आपको बता दें की अधिकतर ऐसे डोमेन कमर्शियल वेबसाइट्स हेतु आदेश किया जाते हैं । आपको जाकर अच्छा लगेगा की इसकी पहुंच विश्व भर में होती है । इन्हे Url Extension के रूप में व्यक्त करते हैं ।

नीचे तालिका में कुछ टॉप Top Level Domain के उदाहरण को देखते हैं ।

1.commercial.com
2.organization.org
3.network.net
4.education.edu
5.government.gov
6.business.biz
7.information.info
8.name.name

Top Level Domain (TLD) के अंर्तगत 2 भाग / 2 प्रकार आते हैं ।

a. Country Code Top Level Domains

इसके नाम को पढ़कर ही कुछ लोग अंदाजा लगा लेता है की यह देश के Two Letter ISO CODE के अंतर्गत तैयार किया गया हैं ।आपको बता दें को हर देश का अपना एक ccTLD होता हैं । किंतु देश आने ccTLD का इस्तेमाल करता है । इस हेतु कोई रोक टोक नही हैं ।

Country Code Top Level Domain इस्तमाल करने से कई फायदे होते है जब आप किसी एक विशेष देश के लोगों को टारगेट करते हुए लेख प्रकाशित करते हैं ।

जैसे कि अगर आप सिर्फ इंडिया देश के विषय या लोगों के बारे में लिखते हैं, तो आप “.in” ccTLD का उपयोग कर सकते हैं ।

Country Code Top Level Domains के उदहारण

1..usUnited States
2..inIndia
3..chSwitzerland
4..cnChina
5..ruRussia
6..brBrazil

b. Generic Top-Level Domains

Generic का अर्थ है- साधारण या फिर सामान्य । आप यह मत समझ लेना की ये बिलकुल ही साधारण तरीके के डोमेन है । यह ऐसे नही हैं । कई सारी सम्मानित और बड़ी वेबसाइटों द्वारा किया जाता है ।

Generic Top-Level Domains के उदहारण 

.com.edu.gov
.int.mil.net
.org

2. Second-Level Domains

DNS क्रम ने TLD से नीचे में वाले ये Second-Level Domains होते है । किंतु आपको बता दें ये एक डोमेन नाम से वर्णन करते हुए । अपने क्रिया सम्मान करते हैं । जैसे कि gonewz.com में (gonewz) Second-Level Domain है ।

Second-Level Domain एक डोमेन नाम का सबसे आसानी से याद रहने वाला भाग होता है । और यह वह भी होता है जिसके लोगो द्वारा वेबसाइट पर पहुंचे एवं ब्रांड स्थापित करने का भी चयन हैं ।

3. Third Level Domains

यह डोमेन नाम इंटरनेट के DNS क्रम में Second Level Domain के नीचे आते हैं । जैसे कि www.gonewzy.com में www एक Third Level Domain है ।

इसके आगे अब हम आपको सबडोमेन के बारे में कुछ बाते बताए क्योंकि यह भी डोमन का ही भाग है ।

सबडोमेन नाम क्या होता है Subdomain name kya hai

आपको बता दें की ये आपके द्वारा खरीदे गए main domain के ही एक अंग या हिस्सा या अंश हैं । आप इस सब डोमेन को अपनी वेबसाइट के डोमेन के नीचे कार्य करने वाली प्रक्रिया हैं ।

आपको यह जानकारी खुशी होगी की Subdomain को खरीदने की जरूरत नहीं पढ़ती है । आप केवल मुख्य डोमेन को खरीदे उसके बार जितने आप चाहे इस डोमेन अनुसार Subdomains डिवाइड कर सकते हैं ।

जैसे – सोचिए यदि आपका मुख्य डोमेन gonewzy.com है । पर उस मुख्य डोमेन के अनुसार Subdomain बनाना चाह रहे हो, तो आप मुख्य domain का एक सब डोमेन जैसे (shop.gonewzy.com) के नाम से बना सकते हैं ।

और इस सब डोमेन में “shop” Subdomain के रूप में कार्य करता हैं । अपने अनेक Subdomain की रचना कर सकते है ।

डोमेन नाम का चुनाव कैसे करें?

कुछ ऐसे बाते मुख्य है जिन जव भी आप डोमन खरीदें उनका विशेष ध्यान रखते हुए एक अच्छे डोमेन नाम का चुनाव कर सकते हैं, ये नीचे है –

  1. उस डोमेन नाम लेने से पहले उस डोमेन के इतिहास के जानने का प्रयास करे ।
  2. कोशिश हमें .com TLD लेने की रखे ।
  3. डोमेन में टारगेट वर्ड्स के उपयोग का प्रयास करें ।
  4. डोमेन नेम छोटा खरीदें ।
  5. अपने कंटेंट अनुसार डोमेन नाम का चुनाव करें ।
  6. ऐसा डोमेन नाम ले जिस बोलने और लिखने ने आसानी रहे ।
  7. सबसे अलग और ब्रांडेड प्रकार के लेने का प्रयास करे ।
  8. स्पेशल characters जैसे hyphen और numbers जैसे डोमन में नही लेना चाहिए ।
  9. डोमेन नाम खरीदने से पहले नेम जनरेटर के उपयोग से अच्छे डोमेन नाम के आईडिया प्राप्त करें ।
  10. अपना डोमेन नाम जल्दी चुनाव करे, इससे पहले कि कोई अन्य व्यक्ति खरीदे आप खरीद लें ।

डोमेन नाम कैसे खरीदें Domain name kaise kharide

जब भी आप डोमेन नाम खरीदने का प्रयास करे आप डोमेन रजिस्ट्रार वेबसाइट से खरीदना पड़ेगा ।आपको बता दें की इंटरनेट मार्केट में कई रजिस्ट्रार ऑनलाइन मौजूद हैं । किंतु हम नीच कुछ विशेष को तालिका में बता रहे हैं –

Domains.GoogleBigrockHostGator
GoDaddyBluehostNamecheap
Domain.comShopifyName.com
Register.com1&1 (iONOSInMotion Hosting

डोमेन नाम को सर्वर या फिर होस्टिंग से कैसे जोड़ें Domain name hosting se kaise connect kare

आपको बता दें की कैसे होस्टिंग प्रदाताओं के साथ डोमेन को जोड़ना बहुत आसान हैं । लेखों फिर भी हम आपको एक विशेष डोमेन प्रदाता कंपनी GoDaddy से डोमेन खरीदने के बाद डोमेन को कनेक्ट करने की प्रक्रिया के कुछ चरण आपको बताएंगे –

GoDaddy अकाउंट को लोगों करने के बार आपको management page पर जाना होगा । पाई

डोमेन को सेलेक्ट करने के बाद उस डोमेन नाम के ‘Manage DNS’ पेज पर पहुंचे ।

‘Manage DNS’ पेज पर पहुंचने के बाद ‘name servers’ पर जाएँ ।

‘name servers’ के बाजू में आप कुछ ऐसा “using default name servers” लिखा हुआ दिखाई देंगे ।

इसे चेंज करने के लिए ‘change button’ पर क्लिक करें और उसे ‘custom’ मोड में सेट कर दें ।

तत्पश्चात उसमें अपने होस्टिंग प्रदाता द्वारा उपलब्ध कराए गए ‘name servers’ को डालें और सेव कर दें ।

आपका डोमेन नाम GoDaddy के होस्टिंग के साथ जुड़ जाएगा ।

समापन : दोस्तों आप यदि हमारे इस पेज पर बताए गए निर्देशों एवं जानकारी जो की डोमेन नाम क्या है Domain name kya hai है । उसे आप आसानी से समझे हो तो कृपया कमेंट करके बताए एवं आप इसे अन्य जरूरतमंद दोस्तों को भेजे ।