डोमेन नाम क्या है Domain name kya hai

डोमेन नाम क्या है? Domain name kya hai

जब भी कई व्यक्ति ब्लॉगिंग की बात करे वह हमें यह जरूर बोलता है की तुम्हे डोमेन नाम लेना पड़ेगा । फिर हम सोचते है की यार ये डोमेन नाम क्या है? क्या होता है? या कहा मिलता होगा । ऐसा कई सवाल हमारे दिमाग में उठते हैं । तो आज हमारे इस लेख में आपको ऐसे हर तरह की जानकारी देने के लिए ही हमारी टीम इस पेज को बना रही है ।

कोई भी नई वेबसाइट को बनाएं उससे पहले डोमेन नाम की आवश्यकता हैं । आगे हम बिना समय लिए बताए की डोमेन नाम क्या होता है और कैसे काम करता है?

डोमेन नाम क्या है Domain name kya hai

डोमेन नाम क्या होता है Domain name kya hota hai

हम किसी भी वेबसाइट को जिस नाम से पुकारते गई वह डोमेन नाम होता हैं । जैसे google यानी गूगल के डोमेन का नाम google.com । जिसके द्वारा किसी वेबसाइट को इंटरनेट पर आसानी से खोजा या पहचाना जा सकते वह डोमेन नाम हैं ।

हमारे मानव जाति ने व्यक्ति को जानने एवं पहचान के लिए नाम दिए जाते गई । उसी प्रकार इंटरनेट या डिजिटल दुनिया में एक वेबसाइट की पहचान हेतु उसे डोमेन नाम दिया जाता है ।

सर्च इंजन जैसे गूगल, बिंग या याहू के खोज बॉक्स में इसी डोमेन के नाम को लिखकर वेबसाइट तक पहुंच मार्ग तैयार किया जाता हैं । एवं इसके बार आने वाले परिणाम में उसे डोमेन से संबंधित लेख ही आते हैं ।

डोमेन नाम का आविष्कार क्यों किया गया Domain name ka Abishkar kyon hua

आपको बता दें की कैस शुरुआत ने किसी भी वेबसाइट का कोई डोमेन नाम नही हुआ करता था । उस समय इसे सिर्फ IP Address से ही पहचाना जाता था ।

अरे यार अब ये IP Address क्या है । ऐसा सोचना बंद करिए क्योंकि नीचे हम IP Address के बारे ने भआई बताने वाले है । अपना पढ़ना जारी रखे !

IP Address एक विशेष तरह की नंबर्स की श्रृंखला होती है जैसे 123.376.321.157 ।

IP Address के बारे में बता दें की यह साधारण भाषा में एक वेब सर्वर का पता होता हैं । एक आईपी एड्रेस यह दर्शाता है, की इंटरनेट पर मौजूद कोई वेबसाइट किस वेब एड्रेस पर उपलब्ध है । आपको बता दें की आज भी यह IP Address हर किसी वेबसाइट के लिए होते है । लेकिन यह जैसे जैसे समय बिता ये लोगों को याद रखने में मुस्किले उत्पन्न हुई । इसी समस्या के निवारण हेतु डोमेन नाम (Domain name) इंटरनेट की दुनिया में आया ।

हम आपको नीचे बताए की डोमेन नाम कैसे काम करता है । लेकिन उससे पहले बता दें की डोमेन नाम को Background में किसी भी IP Address से कनेक्ट कर दिया जाता हैं । और जब भी कोई विजिटर उस पर आता है । तो इसे उस नंबर्स वाले IP Address को याद रखने या लिखने को कोई जरूरत नही । बल्कि वह अब सिर्फ उस आईपी एड्रेस से जुड़े डोमेन के नाम को डालने और याद रखने की जरूरत है । जैसे 123.376.321.157, 123.376.321.158 की जगह पर abc.com, example.com ।

> होस्टिंगर की होस्टिंग सर्विस के Hindi Review

डोमेन नाम कैसे काम करता है?

आपको ऊपर बता गया था की बैकग्राउंड में डोमेन नाम जो आईपी एड्रेस की जगह कनेक्ट कर दिया जाता हैं । इसे कनेक्ट करने के लिए DNS रिकॉर्ड्स, Nameserver, Cname, और a record की मदद से जोड़े जाते हैं । आप इन सभी नामों को सुनकर आश्चर्य ने ना पढ़े । ये सभी आसन है जैसे किसी छोटे से फॉर्म को भरना हो, उसी तरह ये सभी जानकारी डालना पढ़ता हैं ।

जब कोई व्यक्ति आपके वेबसाइट के डोमेन नाम को अपने मोबाइल या कंप्यूटर के ब्राउज़र की खोज बॉक्स में लिखे तो आपका ब्राउज़र सबसे पहले DNS (Domain Name System) को एक संदेश की तरह Request भेजता है । DNS आपके ब्राउज़र Request के अनुसार इस IP Address को डोमेन नाम में बदल कर । उस ब्राउज़र में बदला गया डोमेन नाम को वेब एड्रेस या वेब सर्वर के साथ जुड़ने के लिए Get Request पहुंचता हैं ।

Get Request मिलने के पश्चात वेब एड्रेस या वेब सर्वर उस वेबसाइट की एक प्रतिलिपि को ब्राउज़र में पहुंचा देता हैं ।

आपका Browser उस पहुचाई गया वेबसाइट की प्रतिलिपि को प्राप्त करता हैं । और आपके परिणाम को नए डोमेन नाम के साथ वेबसाइट को खोलने के लिए प्रेरित हैं ।

डोमेन नाम की आवश्यकता क्यों होती है Domain name ki aavshykta kyo hoti hai

मान लीजिए आप कोई वेबसाइट बनाना चाहते है । चलो कोई बात नही! आप वेबसाइट तो बना लेंगें, किंतु उस वेबसाइट को लोग इंटरनेट पर खोजेंगे कैसे उसके लिए उसका नाम किसी भी विजिटर या यूजर को बताना जरूरी है । डोमेन नाम इसी काम में आपकी मदद करता है । Domain name किसी भी वेबसाइट को एक यूनिक नाम प्रदान करता हैं जिससे लोगों को वेबसाइट तक पहुंच पाना आसान रहता है ।

आपको बता दें कोई भी यूजर आपकी वेबसाइट को इस डोमेन नाम के बगैर ढूंढ नही पायेगा । किस वेबसाइट को नाम प्रदान करने के अलावा भी वेबसाइट के लिए अन्य कई लाभ उत्पन्न करता है –

विश्वसनीयता बढ़ने ने मदद करें – अपना स्वयं का नाम होना एक बेवसाइट को पेशेवर दिखाने में हेल्प करता हैं । पर यदि आप फ्री डोमेन नाम का चुनाव करते है । तो वह वेबसाइट पेशेवर नहीं दिखेगी और लोगो का विश्वास भी उतना अधिक नही पैदा कर पाती ।

डोमेन ब्रांड की visibility को बढ़ाता है – कुछ लोग अपने बिसनेस को ऑनलाइन इंटरनेट के तरीके से संपन्न करते हैं । उस वक्त एक अच्छा डोमेन नाम आपके बिसनेस ब्रांड की visibility को बढ़ाने में सहायक होगा ।

जब आपका ब्रांड का नाम आपके डोमेन नेम से जुड़ा हुआ रहता है । तो लोगो को जल्दी से याद रखने में एवं दोबारा आने की संभावना भी बढ़ती हैं ।

इंटरनेट उपलब्धता को गतिशील बनाता है – आपकी साइट किसी भी जगह पर किसी भी देश या अन्य देशों में हो फर्क नही पढ़ता । आपकी वेबसाइट का डोमेन नाम बदलता नही हैं ।आप जिस तरफ भी जाए आप आसानी से अपने काम को बढ़ावा देने के लिए डोमेन नेम से गतिशील बना सकते हैं ।

डोमेन नाम के उदाहरण क्या है?

डोमेन नाम के बहुत सारे examples हो सकते हैं जैसे कि :-

youtube.cominstagram.com
google.compaypal.com
facebook.comwikipedia.org
amazon.comtwitter.com

डोमेन नाम के प्रकार Types of domains in hindi

आपको पहले ही बता दें की डोमेन नेम तीन प्रकार के होते है जिनमे से आपको व्यक्त करने में हम नीचे प्रदान कर रहे हैं –

1. Top Level Domain (TLD)

2. Second-Level Domains

3. Third Level Domains

1. Top Level Domain (TLD)

इस डोमेन का नाम इंटरनेट की डीएनएस क्रम अनुसार शीर्ष में आता है । यह कोई भी नाम के दाए वाले हिस्से को व्यक्त करता है जैसे instagram.com एक डोमेन है इसका दाया हिस्सा .com है यह Top Level Domain (TLD) है ।

आपको बता दें की अधिकतर ऐसे डोमेन कमर्शियल वेबसाइट्स हेतु आदेश किया जाते हैं । आपको जाकर अच्छा लगेगा की इसकी पहुंच विश्व भर में होती है । इन्हे Url Extension के रूप में व्यक्त करते हैं ।

नीचे तालिका में कुछ टॉप Top Level Domain के उदाहरण को देखते हैं ।

1.commercial.com
2.organization.org
3.network.net
4.education.edu
5.government.gov
6.business.biz
7.information.info
8.name.name

Top Level Domain (TLD) के अंर्तगत 2 भाग / 2 प्रकार आते हैं ।

a. Country Code Top Level Domains

इसके नाम को पढ़कर ही कुछ लोग अंदाजा लगा लेता है की यह देश के Two Letter ISO CODE के अंतर्गत तैयार किया गया हैं ।आपको बता दें को हर देश का अपना एक ccTLD होता हैं । किंतु देश आने ccTLD का इस्तेमाल करता है । इस हेतु कोई रोक टोक नही हैं ।

Country Code Top Level Domain इस्तमाल करने से कई फायदे होते है जब आप किसी एक विशेष देश के लोगों को टारगेट करते हुए लेख प्रकाशित करते हैं ।

जैसे कि अगर आप सिर्फ इंडिया देश के विषय या लोगों के बारे में लिखते हैं, तो आप “.in” ccTLD का उपयोग कर सकते हैं ।

Country Code Top Level Domains के उदहारण

1..usUnited States
2..inIndia
3..chSwitzerland
4..cnChina
5..ruRussia
6..brBrazil

b. Generic Top-Level Domains

Generic का अर्थ है- साधारण या फिर सामान्य । आप यह मत समझ लेना की ये बिलकुल ही साधारण तरीके के डोमेन है । यह ऐसे नही हैं । कई सारी सम्मानित और बड़ी वेबसाइटों द्वारा किया जाता है ।

Generic Top-Level Domains के उदहारण 

.com.edu.gov
.int.mil.net
.org

2. Second-Level Domains

DNS क्रम ने TLD से नीचे में वाले ये Second-Level Domains होते है । किंतु आपको बता दें ये एक डोमेन नाम से वर्णन करते हुए । अपने क्रिया सम्मान करते हैं । जैसे कि gonewz.com में (gonewz) Second-Level Domain है ।

Second-Level Domain एक डोमेन नाम का सबसे आसानी से याद रहने वाला भाग होता है । और यह वह भी होता है जिसके लोगो द्वारा वेबसाइट पर पहुंचे एवं ब्रांड स्थापित करने का भी चयन हैं ।

3. Third Level Domains

यह डोमेन नाम इंटरनेट के DNS क्रम में Second Level Domain के नीचे आते हैं । जैसे कि www.gonewzy.com में www एक Third Level Domain है ।

इसके आगे अब हम आपको सबडोमेन के बारे में कुछ बाते बताए क्योंकि यह भी डोमन का ही भाग है ।

सबडोमेन नाम क्या होता है Subdomain name kya hai

आपको बता दें की ये आपके द्वारा खरीदे गए main domain के ही एक अंग या हिस्सा या अंश हैं । आप इस सब डोमेन को अपनी वेबसाइट के डोमेन के नीचे कार्य करने वाली प्रक्रिया हैं ।

आपको यह जानकारी खुशी होगी की Subdomain को खरीदने की जरूरत नहीं पढ़ती है । आप केवल मुख्य डोमेन को खरीदे उसके बार जितने आप चाहे इस डोमेन अनुसार Subdomains डिवाइड कर सकते हैं ।

जैसे – सोचिए यदि आपका मुख्य डोमेन gonewzy.com है । पर उस मुख्य डोमेन के अनुसार Subdomain बनाना चाह रहे हो, तो आप मुख्य domain का एक सब डोमेन जैसे (shop.gonewzy.com) के नाम से बना सकते हैं ।

और इस सब डोमेन में “shop” Subdomain के रूप में कार्य करता हैं । अपने अनेक Subdomain की रचना कर सकते है ।

डोमेन नाम का चुनाव कैसे करें?

कुछ ऐसे बाते मुख्य है जिन जव भी आप डोमन खरीदें उनका विशेष ध्यान रखते हुए एक अच्छे डोमेन नाम का चुनाव कर सकते हैं, ये नीचे है –

  1. उस डोमेन नाम लेने से पहले उस डोमेन के इतिहास के जानने का प्रयास करे ।
  2. कोशिश हमें .com TLD लेने की रखे ।
  3. डोमेन में टारगेट वर्ड्स के उपयोग का प्रयास करें ।
  4. डोमेन नेम छोटा खरीदें ।
  5. अपने कंटेंट अनुसार डोमेन नाम का चुनाव करें ।
  6. ऐसा डोमेन नाम ले जिस बोलने और लिखने ने आसानी रहे ।
  7. सबसे अलग और ब्रांडेड प्रकार के लेने का प्रयास करे ।
  8. स्पेशल characters जैसे hyphen और numbers जैसे डोमन में नही लेना चाहिए ।
  9. डोमेन नाम खरीदने से पहले नेम जनरेटर के उपयोग से अच्छे डोमेन नाम के आईडिया प्राप्त करें ।
  10. अपना डोमेन नाम जल्दी चुनाव करे, इससे पहले कि कोई अन्य व्यक्ति खरीदे आप खरीद लें ।

डोमेन नाम कैसे खरीदें Domain name kaise kharide

जब भी आप डोमेन नाम खरीदने का प्रयास करे आप डोमेन रजिस्ट्रार वेबसाइट से खरीदना पड़ेगा ।आपको बता दें की इंटरनेट मार्केट में कई रजिस्ट्रार ऑनलाइन मौजूद हैं । किंतु हम नीच कुछ विशेष को तालिका में बता रहे हैं –

Domains.GoogleBigrockHostGator
GoDaddyBluehostNamecheap
Domain.comShopifyName.com
Register.com1&1 (iONOSInMotion Hosting

डोमेन नाम को सर्वर या फिर होस्टिंग से कैसे जोड़ें Domain name hosting se kaise connect kare

आपको बता दें की कैसे होस्टिंग प्रदाताओं के साथ डोमेन को जोड़ना बहुत आसान हैं । लेखों फिर भी हम आपको एक विशेष डोमेन प्रदाता कंपनी GoDaddy से डोमेन खरीदने के बाद डोमेन को कनेक्ट करने की प्रक्रिया के कुछ चरण आपको बताएंगे –

GoDaddy अकाउंट को लोगों करने के बार आपको management page पर जाना होगा । पाई

डोमेन को सेलेक्ट करने के बाद उस डोमेन नाम के ‘Manage DNS’ पेज पर पहुंचे ।

‘Manage DNS’ पेज पर पहुंचने के बाद ‘name servers’ पर जाएँ ।

‘name servers’ के बाजू में आप कुछ ऐसा “using default name servers” लिखा हुआ दिखाई देंगे ।

इसे चेंज करने के लिए ‘change button’ पर क्लिक करें और उसे ‘custom’ मोड में सेट कर दें ।

तत्पश्चात उसमें अपने होस्टिंग प्रदाता द्वारा उपलब्ध कराए गए ‘name servers’ को डालें और सेव कर दें ।

आपका डोमेन नाम GoDaddy के होस्टिंग के साथ जुड़ जाएगा ।

समापन : दोस्तों आप यदि हमारे इस पेज पर बताए गए निर्देशों एवं जानकारी जो की डोमेन नाम क्या है Domain name kya hai है । उसे आप आसानी से समझे हो तो कृपया कमेंट करके बताए एवं आप इसे अन्य जरूरतमंद दोस्तों को भेजे ।